Airplane windows: जानिए हवाई जहाज की खिड़कियां गोल ही क्यों होती हैं? चौंकाने वाला रहस्य या विज्ञान

Airplane windows: जानिए हवाई जहाज की खिड़कियां गोल ही क्यों होती हैं? चौंकाने वाला रहस्य या विज्ञान

Airplane windows

Airplane windows: हवाई जहाज में सफर करना हर किसी का सपना होता है। इसके कई कारण हैं जैसे समय की बचत, सफर में एडवेंचर, लग्जरी लाइफ आदि-आदि….। आपने हवाई जहाज की यात्रा के समय या फिर किसी फिल्म में इसकी कई खासियत भी देखी होंगी। जैसे इसकी सीट में सीटबेल्ट, इसके बड़े-बड़े पंख, इंजन का पंखा, इसके बड़े-बड़े पहिए, सामान रखने की डिग्गी आदि..। इनके अलावा आपने एक खास बात जरूर देखी होगी इसकी गोलाकार खिड़कियां..Airplane windows। हवाई जहाज की गोल खिड़कियां देखकर आपने कभी सोचा कि, आखिरकार इसकी खिड़कियां Airplane windows गोल ही क्यों होती हैं?  इसकी खिड़कियां चौकोर ,तिरक्षी या किसी और आकार की क्यों नहीं होती हैं? आइए इस खबर में इस रोचक जानकारी को इस खबर में जानते हैं….

खिड़कियां गोल होने से पहले का इतिहास Why are airplane windows circular

जैसा कि आपको जानकारी होगी आम जनता के लिए 1950 के दौरान सुगम हुई थी। उस समय के हवाई जहाज धीरे चलते थे और खिड़कियां चौकोर होती थीं। 1953 में जब इसकी रफ्तार में इजाफा किया गया तब 2 हवाई जहाज हवा में क्षतिग्रस्त हो गए। इन दो घटनाओं में 56 लोगों की मौत हो गई और  इस क्रैश का कारण था हवाई जहाज की खिड़कियां। इस घटना के बाद वैज्ञानिकों ने फ्लाइट की विंडो में कुछ बदलाव जरूरी बताए और फिर खिड़कियां तो गोलाकार कर दी गईं या फिर कोनों में राउंड शेप.

गोल खिड़कियां करने का कारण Airplane windows

फ्लाइट की खिड़कियां गोल या फिर कोनों से घुमावदार करने के पीछे वैज्ञानिक कारण है। एक्‍सपर्ट्स के मुताबिक, खिड़कियों का चौकोर कोने वाला आकार उतना मजबूत नहीं होता है जितना होना चाहिए।हवाई जहाज उड़ते समय अत्यधिक तेज होता है जिसके कारण खिड़की में भारी दबाव लगता है और खिड़कियों के टूटने का खतरा बढ़ जाता है। चौकोर डिजाइन में 4 कमजोर स्‍पॉट्स यानि कोने होंगे और प्रेशर पड़ने पर वो हवा में चटक सकते हैं. गोल रहने से प्रेशर डिस्‍ट्रीब्‍यूट हो जाता है और खिड़कियों के क्षतिग्रस्त होने की संभावना कम हो जाती है.

खिड़कियां गोल करने के और भी दूसरे कारण

आसमान में उड़ान के दौरान प्‍लेन के अंदर और बाहर दोनों तरफ हवा का प्रेशर बनता है.प्‍लेन की गति बढ़ने और अध‍िक ऊंचाई पर उड़ने के कारण यह दबाव और ज्‍यादा बनता है. विंडो गोल होने से हवा का दबाव बदलने की स्थिति में डैमेज होने का खतरा नहीं के बराबर होता है.इस कारण खिड़कियां गोल की जाती हैं Airplane windows।

पैसा भी है वजह

जाहिर सी बात है चौकोर खिड़कियां होने से हवा का ज्यादा दबाव प्लेन पर लगेगा इसके कारण इंजन पर ज्यादा ताकत लगती है। जिसके कारण ईंधन भी ज्‍यादा खर्च होता है औक गति घटती है जिससे यात्रा का समय भी ज्यादा बढ़ जाता है। हवाई जहाज का यात्रियों के बीच चलन ट्रेंड बढ़ने पर एयरलाइंस कंपनियों ने संचालन लागत कम करने के लिए इनकी स्‍पीड बढ़ाई और फिर बढ़ते एयर प्रेशर को कम करने के लिए गोल विंडो लगाई जाने लगीं. इस प्रकार इन सभी कारणों से यात्रा भी सुरक्षित हुई,लागत भी कम आने लगी और प्लेन की स्पीड़ भी बढ़ गई।

आखिरी कारण रोचक है Airplane windows

इन सभी बातों के अलावा इंजीनियर्स ने एक बात देखी कि, अधिकांशत: खिड़कियां चौकोर होती हैं जो बोरिंग है गोल विंडो, चौकोर विंडो से अच्‍छी भी दिखती है और हवाई जहाज की सुंदरता में चार चांद लगा देती हैं।इस कारण भी खिड़कियों को गोल किया गया ।

कृपया जानकारी शेयर करना न भूलें……Airplane windows

इसे भी पढ़िए……Janna Jaroori hai: लिफ्ट का इस्तेमाल करते समय आपकी बेइज्जती न हो,इसलिए जान लीजिए इसके इस फीचर को

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password