LAC पर तनातनी: चीन के सैनिकों ने की फायरिंग

PIC-mbs.news

PIC-http://mbs.news

नई दिल्ली: भारत और चीन (India-ChinaTension) के बीच तनाव कम होने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। कम होने के बजाय एलएसी (LAC) पर तनाव पहले से ज्यादा बढ़ गया है। चीन ने एक बार फिर भारतीय सैनिकों पर फायरिंग करने का आरोप लगाया है। जबकि भारतीय सेना का कहना है कि भारतीय सैनिकों को जराने के लिए चीन ने ही बॉर्काडर पर फायरिंग की।

चीन ने की कई राउंड हवाई फायरिंग

भारतीय सैनिकों का कहना है कि, 7 सितंबर की रात चीनी सैनिक लोहे की रॉड और कटीले डंडे लेकर मुखपारी चोटी पर कब्‍जे करने की कोशिश कर रहे थे। कई बार चेतावनी के बाद भी वह नहीं माने और एक बार फिर गलवान घाटी जैसी खूनी झड़प को दोहराने की कोशिश की। साथ ही चीन की सेना ने भारतीय सैनिकों को डराने के लिए कई राउंड हवाई फायरिंग भी की।

एक बार फिर गलवान खूनी संघर्ष दोहराने की कोशिश

घटना सोमवार रात की बताई जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार चीन एक बार फिर गलवान जैसी खूनी झड़प दोहराने की हिमाकत कर रहा था। जिसे रोकने के लिए जब भारतीय सैनिकों ने कोशिश की तो चीनी सैनिकों ने फायरिंग शुरू कर दी।

चीन के सरकारी प्रोपैगैंडा अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स ने लिखा है कि, भारतीय सेना ने पैंगोंग सो झील के दक्षिणी छोर के पास शेनपाओ की पहाड़ी पर एलएसी (LAC) को पार किया। भारतीय जवानों ने बातचीत की कोशिश कर रहे पीएलए (PLA) के बॉर्डर पट्रोल से जुड़े सैनिकों पर वार्निंग शॉट फायर किए, जिसके बाद चीनी सैनिकों (Chinese soldiers) को हालात काबू में करने के लिए कदम उठाने पड़े।

इसे भी पढ़ें- एक बार फिर चीन ने अरुणाचल प्रदेश को बताया दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा

भारतीय सैनिकों पर चीन का आरोप

चीन का कहना है कि भारतीय पक्ष ने द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन किया है। जिसके कारण अब क्षेत्र में पहले से ज्यादा तनाव बढ़ेगा। उन्होंने आगे कहा कि, हम भारतीय पक्ष से मांग करते हैं कि खतरनाक कदमों पर नियंत्रण लगाए और फायरिंग करने वाले सेनिक को सजा दें। इसके साथ भारत को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि ऐसी घटना दोबारा ना दोहराया जाए।

इसे भी पढ़ें- लद्दाख बॉर्डर पर बढ़ा तनाव, दोनों तरफ से तैनात किए गए टैंक, सेना ने चीनी कैमरे और सर्विलांस सिस्टम को उखाड़ा

आपके बता दें, गलवान घाटी में हुई खुनी झड़प के बाद भारत सरकार ने भारतीय सैनिकों को आत्‍मरक्षा के लिए गोली चलाने का अधिकार दिया है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password