INDIAN CURRENCY : नोटों पर क्यों होती है ये तिरक्षी लाइन?, जानिए इसका मतलब

INDIAN CURRENCY : भारतीय नोटों पर ऐसे कई निशान होते है जिनके बारे में शायद ही कम लोगों को पता होता है। ऐसा ही एक निशान भारतीय नोटों पर होता है। आपने गौर किया होगा की भारतीय नोटों पर तिरक्षी लाइनें बनी होती है। जो नोटों की कीमत के हिसाब से घटती और बढ़ती रहती है। लेकिन ये तिरक्षी लाइने आखिर नोटों पर क्यों छापी जाती है। तो आइए हम आज आपको बताते है कि नोटों पर ये लकीरे क्यों बनी होती है।

दरअसल, ये लकीरें नोट के बारे में बड़ी महत्वपूर्ण जानकारी देती है. 100, 200, 500 और 2000 के नोटों पर बनीं इन लाइनों को ब्‍लीड मार्क्‍स कहते हैं। ये लकीरे खास तौर पर ऐसे लोगों को बनाई जाती है जो अपनी आंखों से नहीं देख पाते है। इन लकीरों की मदद से नेत्रहीन लोग यह जान सकते है। कि यह कितने रूपये का नोट है। इसलिए भारतीय करैंासी 100, 200, 500 और 2000 के नोटों इन लाइनों को छापा जाता है। नेत्रहीन लोग इन्हीं लाइनों पर अपनी उंगलियों फेर कर पता लगते है कि यह कितने का नोट है।

लकीरों से होती है। नोटों की पहचान

नोटों पर छपने वाली ये लकीरें नोटों की कीमत बताती हैं। जैसे कि 100 रुपये के नोट में दोनों तरफ चार-चार लकीरे होती हैं। वैसे ही 200 के नोट के दोनों किनारे चार-चार लकीरे हैं। लकीरों के साथ दो दो जीरों भी लगे होते है। वही 500 के नोट पर 5-5 और 2 हजार के नोट पर 7-7 लकीरें होती है। इन्ही लकीरों की मदद से नेत्रहीन नोटों की और उसकी कीमत की पहचान कर पाते है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password