Bageshwar Dham : कौन है बागेश्वर धाम के महाराज धीरेन्द्र शास्त्री, जिनकी बोल रही तूती

Bageshwar Dham : कौन है बागेश्वर धाम के महाराज धीरेन्द्र शास्त्री, जिनकी बोल रही तूती

Pandit Dhirendra Krishna Shastri : मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के ग्राम गड़ा में स्थित सिद्ध स्थान बागेश्वर धाम सरकार (Bageshwar Dham Sarkar) इन दिनों पूरे भारत में चर्चा का विषया बना हुआ है। बागेश्वर धाम (Bageshwar Dham Sarkar) में रोजाना लाखों की तादात में भक्त अपनी मनोकामनाएं लेकर पहुंच रहे है। बताया जा रहा है कि बागेश्वर धाम (Bageshwar Dham Sarkar) के मुख्य पंड़ित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) भक्त को देखकर ही बता देते है कि उनके मन में क्या चल रहा है। बागेश्वर धाम सरकार (Bageshwar Dham Sarkar) में आप जैसे ही पहुंचते है आपके उपर जो भी साया होता है । वो अपने आप ही उतर जाता है। महाराज धाम पर आए हर एक व्यक्ति के मन की बात जान लेते है। और उनके दुखो को दूर करने के उपाय भी बता देते है। इतना ही नहीं पंडीत धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री की कृपा से धाम में हर दिन भंडारा चालू रहता है।

आखिर कौन हैं ये चमत्कारी महाराज

पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) जी का जन्म 4 जुलाई 1996 में छतरपुर जिले के छोटे से गांव ग्राम गड़ा में हुआ था। पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) का बचपन यही उनके गांव गड़ा में बीता है। बताया जाता है। कि वो बचपन से ही बहुत धीर और दयालु थे। धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) का जन्म एक सामान्य परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम राम करपाल गर्ग था। उनकी माता जी का नाम सरोज गर्ग है। उनके दादाजी का नाम भगवान दास गर्ग है। पंडीत धीरेन्द्र शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) के दादाजी एक अच्छे विद्वान थे। वह निर्मोही अखाड़े से जुड़े हुए थे। पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) अपने दादाजी को ही अपना गुरु मानते थे। उन्होंने ही उन्हें रामायण, और भागवत गीता का अध्ययन करना सिखाया था।

पंडीत धीरेन्द्र शस्त्री की शिक्षा

पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) एक गरीब परिवार से थे, इसलिए उनको उच्च शिक्षा प्राप्त नहीं पाई थी। वह सरकार स्कूल में ही पढ़ें। पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) 8वी तक अपने गांव में ही पढ़ाई की थी। इसके बाद की पढ़ाई के लिए वो 5 किलोमीटर पैदल चल कर गंज में आते थे। उन्होंने 12वी तक की पढ़ाई गंज से की थी। और बीए प्राइवेट किया। इसके बाद उनको समाज सेवा और मानव सेवा मे लग गए और पढ़ाई छोड़ दी। बताया जाता है कि पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) का परिवार बहुत गरीब था। उनके भाई और बहन भी साथ-साथ रहते थे। पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) ने 9 साल की उम्र से ही बालाजी सरकार की सेवा करना शुरू कर दी थी। उनसे पहले उनके दादाजी बालाजी सरकार का दरबार चलाया करते थे। धीरे धीरे वह 12 साल की उम्र से हनुमान जी की कृपा से भागवत गीता का प्रवचन देने लगे। और वही बालाजी जी के दरबार में साधना किया करते थे। इसी साधना का उन पर ऐसा असर हुआ की, बालाजी की कृपा से उन्हें अनेको सिद्धियां प्राप्त हुई।

महाराज के चमत्कार देखकर लोग रह जाते है दंग

बागेश्वर धाम पर आने वाले लोग पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) के चमत्कार देख कर दंग रह जाते है। महाराज से मिलने के लिए आपको अर्जी देना पढ़ती है। आप बागेश्वर धाम (Bageshwar Dham Sarkar) पर जा कर टोकन ले सकते है। लेकिन अगर आप वहां नही जा सकते है। और आप जानना चाहते है की महाराज धाम (Bageshwar Dham Sarkar) में है की नही उसके लिए बागेश्वर धाम का एक हेलिपलाइन नंबर भी है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password