Whatsapp New privacy policy: फिर से चर्चाओं में क्यों है वाट्सअप, जानिए क्या है नया अपडेट

WhatsApp new privacy policy

नई दिल्ली। वाट्सअप की नई प्राइवेसी पॉलिसी एक बार फिर से चर्चाओं में है। इस बार कंपनी ने यूजर से कहा है कि अगर वे प्राइवेसी पॉलिसी को नहीं मानते हैं तो उन्हें मैसेज करना का अधिकार नहीं दिया जाएगा। साथ ही 120 दिन बाद अंकाउंट भी सस्पेंड कर दिया जाएगा। हालांकि अभी कंपनी ने इस पॉलिसी को 15 मई तक के लिए टाल दिया है।

वाट्सअप की नई चाल

एक रिपोर्ट के मुताबिक वाट्सअप ने अपने प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट कराने के लिए, नई चाल चल रही है। जिसके तहत यूजर अगर 15 मई के बाद पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करते तो सबसे पहले उन्हें मैसेज करने से ब्लॉक कर दिया जाएगा। साथ ही उनके अकाउंट पर भी किसी का मैसेज नहीं आएगा। वहीं अगर आप इस कार्रवाई के बाद भी पॉलिसी को एक्सेपट नहीं करते तो फिर 120 दिन बाद आपका अकाउंट सस्पेंड कर दिया जाएगा।

यूजर क्या कह रहे हैं?

वहीं यूजर का कहना है कि वाट्सअप अपनी पेरेंट कंपनी फेसबुक के साथ डेटा शेयर करना चाहती है। इस कारण से वह ऐसा कर रही है। हालांकि कंपनी ने साफ किया है कि वह यूजर के डेटा प्राइवेसी के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं करेगी। कंपनी ने अपने सफाई में कहा है कि नई पॉलिसी को व्यावसायिक दृष्टि से लाया गया है। इससे यूजर को डरने की जरूरत नहीं है। हम किसी भी तरह से उन्हें तकलीफ नहीं पहुंचाने जा रहे।

पहले से ही जानकारी साझा करता है वाट्सअप

हालांकि आपको बतादें, व्हाट्सएप पहले से ही फेसबुक के साथ कुछ जानकारी साझा करता है। जिसमें डिवाइस का आईपी एड्रेस और फ्लेटफॉर्म के माध्यम से कुछ खरीदना और बेचना आदि शामिल है। लेकिन, यूरोप और ब्रिटेन में ऐसा नहीं होता है। क्योंकि वहां गोपनीयता कानून अलग है। वहीं भारत भारतीय कानूनों में अभी तक गोपनीयता के लिए ऐसे कोई प्रावधान नहीं हैं जिसे कंट्रोल किया जा सके।

डिलीट होने के बाद अकाउंट को रिवर्स नहीं कर पाएंगे

कंपनी के इस फैसले को लेकर दावा किया गया है कि 15 मई के बाद यूजर अगर फॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करते तो धीरे-धीरे उनके अधिकारों को खत्म कर दिया जाएगा।
हालांकि 120 दिनों तक वो कॉल और नॉटिफिकेशन को ऐक्सेस कर पाएंगे, लेकिन मैसेज नहीं कर पाएंगे। वहीं अगर एक बार अकाउंट डिलीट हो गया तो फिर यूजर उसे रिवर्स नहीं कर पाएंगे। उनकी सारी मैसेज हिस्ट्री खत्म हो जाएगी। साथ ही जितने भी ग्रुप में आप मेंबर है उन सभी ग्रुपों से ऑटोमैटिकली लेफ्ट हो जाएंगे।

वैकल्पिक ऐप की तलाश में लोग

गौरतलब है कि प्राइवेसी पॉलिसी आने के बाद से ही वाट्सअप का चौतरफा विरोध हो रहा है। यूजर अब वैकल्पिक मैसेजिंग ऐप की तलाश में हैं। यही कारण है कि नये नियम के बाद टेलिग्राम जैसे ऐप को 63 मिलियन से ज्यादा बार डॉनलोड किया गया है। वहीं कुछ और भी ऐप हैं जैसे- सिग्नल, स्वदेश ऐप संदेश, जिन्हें भी लोग बढ़चढ़ कर डाउनलोड कर रहे हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password