WhatsApp ने भारत में ban किए 3.6 मिलियन खाते

WhatsApp ने भारत में ban किए 3.6 मिलियन खाते

WhatsApp व्हाट्सएप ने भारत में बड़ा एक्शन लेते हुए यहां 3.6 मिलियन खातों पर प्रतिबंध प्रतिबंध लगा दिया है। यह कार्रवाई सूचना प्रौद्योगिकी नियम 2021 के तहत की गई है। व्हाट्सएप की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार उसने दिसंबर के लिए अपनी इंडिया मंथली रिपोर्ट में दी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि दिसंबर 2023 में भारत में इन खातों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इनमें से कुछ खाते ऐसे हैं, जिन्हें सक्रिय रूप से प्रतिबंधित किया गया था।

3,677,000 व्हाट्सएप खातों में से 1,389,000 खातों को उपयोगकर्ताओं से किसी भी रिपोर्ट के पहले ही सक्रिय रूप से प्रतिबंधित कर दिया गया था। यहां बता दें 2021 में आए नए आईटी नियमों के तहत वॉट्सएफ के लिए प्रति माह एक रिपोर्ट को सार्वजनिक करना पड़ता है। जिसके तहत सुरक्षा की दृष्टि से उठाए गए कदमों के बार में जानकारी देनी पड़ती है। इसी के तहत अभद्र भाषा के साथ ही गलत सूचना प्रसारित करने वाली शिकायतों पर कार्रवाई की जाती है।

बता दें कि इससे पहले सोशल मीडिया प्लेटफार्म WhatsApp के करीब 50 करोड़ यूजर्स के मोबाइल नंबरों को सेल के लिए ऑनलाइन डाले जाने की खबर खूब वायरल हुई थी। जिसके बाद से सोशल मीडिया पर यूजर्स की प्राइवेसी को लेकर सवाल खड़े होने लगे थे। एक हैकिंग कम्युनिटी फोरम पर एक ऐड डाला गया है, इसमें दावा किया था कि करीब 50 करोड़ व्हाट्सऐप यूजर के Mobile Number को बेचा जाएगा। इस डेटाबेस में 84 अलग-अलग देशों से व्हाट्सऐप यूजर्स के मोबाइल नंबर शामिल किए गए हैं। इन देशों में अमेरिका, ब्रिटेन, मिस्र, इटली, सऊदी अरब और भारत शामिल हैं।

बता दें कि साइबर अपराधी फिशिंग अटैक के लिए इस्तेमाल करते हैं। इसी वजह से व्हाट्सऐप यूजर्स को अनजान नंबरों और कॉल, मैसेज से सावधान रहने की बात कही जाती है। वहीं किंग फोरम पर दावा किया गया है कि इस डेटा में 3.2 करोड़ से अधिकअमेरिकी यूजर्स के फोन नंबर शामिल हैं। इसी तरह प्रभावित यूजर्स में से 4.5 करोड़ मिस्र, 3.5 करोड़ इटली, 2.9 करोड़ सऊदी अरब, 2 करोड़ फ्रांस और 2 करोड़ तर्की में हैं। इस डेटाबेस में रूस के करीब 1 करोड़ यूजर्स और ब्रिटेन के 1.1 करोड़ से अधिक यूजर्स का फोन नंबर शामिल हैं।लीक हुए डेटा में फोन नंबरों के साथ दूसरी डिटेल्स भी शामिल थीं।

Share This

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password