केरल एसडीपीआई नेता की हत्या के मामले में दो गिरफ्तार: पुलिस

अलप्पुझा (केरल)। केरल पुलिस ने सोमवार को बताया कि सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) के नेता के एस शान की हत्या के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और उसने भाजपा के अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) मोर्चा की प्रदेश इकाई के सचिव रंजीत श्रीनिवास की हत्या के मामले में ‘‘अहम सुराग’’ मिलने का दावा किया है। हत्या के इन दोनों मामलों की जांच विशेष जांच दल (एसआईटी) कर रहा है। एसआईटी का नेतृत्व कर रहे अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) (कानून एवं व्यवस्था) विजय साखरे ने बताया कि शुरुआती जांच में खुलासा हुआ है कि शनिवार रात को शान की हत्या में 10 आरोपी शामिल थे।उन्होंने बताया कि शान की हत्या के संबंध में प्रसाद और रतीश को गिरफ्तार कर लिया गया है तथा हत्या में शामिल आठ अन्य लोगों की भी पहचान कर ली गई है और उन्हें पकड़ने के लिए पुलिस दलों को तैनात किया गया है।

12 लोगों के बारे में ‘‘ठोस सुराग’’ मिले

सखारे ने बताया कि प्रसाद शान की हत्या का मुख्य षड्यंत्रकर्ता है और उसी ने हत्या की योजना बनाई तथा लोगों एवं वाहन का प्रबंध किया। उन्होंने बताया कि पुलिस इस मामले की भी जांच कर रही है कि क्या एसडीपीआई नेता की हत्या के पीछे कोई बड़ा षड्यंत्र है। उन्होंने श्रीनिवास की हत्या के मामले की जांच के संबंध में हुई प्रगति की बात करते हुए दावा किया कि हत्यारों के बारे में ‘‘ठोस सुराग’’ मिले हैं। सखारे ने कहा कि पुलिस को श्रीनिवास की हत्या में शामिल करीब 12 लोगों के बारे में ‘‘ठोस सुराग’’ मिला है और उनकी पहचान की पुष्टि की जा रही है। उन्होंने इस संबंध में और जानकारी देने से इनकार कर दिया, लेकिन कहा कि पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि इस हत्या के पीछे कोई बड़ी साजिश तो नहीं है और यदि ऐसी कोई बात सामने आती है, तो इसमें शामिल लोगों को भी कानून के दायरे में लाया जाएगा।शान पर शनिवार की रात घर लौटते समय बेरहमी से हमला किया गया। शान की पार्टी एसडीपीआई ने आरोप लगाया कि घटना के पीछे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का हाथ है। पुलिस ने बताया कि शान ने आधी रात के करीब कोच्चि के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया। पुलिस ने बताया कि इसके कुछ घंटों बाद रविवार सुबह कुछ हमलावरों ने श्रीनिवास के घर में घुसकर उनकी हत्या कर दी। इस बीच, राज्य पुलिस प्रमुख अनिल कांत ने अलप्पुझा में हुईं इन हालिया घटनाओं के मद्देनजर अपने बल को एहतियातन कदम उठाने का सोमवार को निर्देश दिया। राज्य पुलिस प्रमुख के कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया कि इसके लिए राज्य के पूरे पुलिस बल को तैनात किया जाएगा और पुलिस अधिकारियों को केवल आपात स्थिति में छुट्टी लेने की अनुमति दी जाएगी।

अंतिम संस्कार आज किया जाएगा

कांत ने पुलिस को राज्य में दिन-रात वाहनों की कड़ी जांच करने और समस्याग्रस्त क्षेत्रों में आवश्यक पुलिस बल तैनात करने के निर्देश दिए। पुलिस ने कहा कि विभिन्न अपराधों में वांछित असामाजिक तत्वों को पकड़ा जाएगा। पूरे अलप्पुझा जिले में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। जिले में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौजूद हैं और अतिरिक्त पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया गया है। शान की पार्थिव देह को शनिवार शाम को उनके आवास के निकट कर्बिस्तान में दफनाया गया और श्रीनिवास का अंतिम संस्कार आज किया जाएगा।आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि अलप्पुझा जिलाधिकारी द्वारा सोमवार दोपहर को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक को भाजपा द्वारा असुविधा व्यक्त करने के बाद मंगलवार के लिए स्थगित कर दिया गया है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password