इन रूट्स पर चलेंगी 12 सिंतबर से शुरू होने वाली ट्रेनें, स्पेशल पोस्ट-कोविड कोच लगाने की तैयारी

PIC-.indiatimes.com

PIC-.indiatimes.com

नई दिल्ली: कोरोना संकट (corona virus) के बीच अब लोगों का जीवन धीरे-धीरे सामान्य होने लगा है। ऐसे में सरकार ने भी लॉकडाउन (Lockdown) की प्रक्रिया अनलॉक-4 (Unlock-4) के तहत कई तरह की रियायतें दी हैं। लोगों के आवागमन की समस्याओं को देखते हुए भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने 12 सितंबर से 80 नई ट्रेनों के संचालन का फैसला लिया है। ऐसे में सबसे बड़ी चुनौती ये है कि, कोरोना संक्रमण से यात्रियों को कैसे सुरक्षित रखा जाए। इसपर विचार करते हुए, भारतीय रेलवे ने जल्द ही स्पेशल पोस्ट-कोविड कोच (Post Covid-19 Coach) को पटरी पर लाने का फैसला किया है।

‘स्पेशल पोस्ट-कोविड’ (Special Post Covid-19 Coach) कोच

यह सामान्य कोच से अलग होगा। इसमें कई तरह की सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। इस कोच में ऐसी सुविधाएं दी गई हैं कि, जिनके इस्तेमाल के लिए आपकों हाथ नहीं लगाने पड़ेंगे। पानी के नल और साबुन डिस्पेंसर को पैर से ऑपरेट किया जाएगा। साथ ही टॉयलेट का दरवाजा, फ्लश वाल्व, वॉशबेसिन पर लगा नल भी पैरों से ऑपरेट होगा। इसमें कॉपर कोटेड हैंडरेल और चिटकनियां होंगी। इसकी वजह यह है कि कॉपर कुछ ही घंटे में वायरस को नष्ट कर देता है। कॉपर में एंटी माइक्रोबियल (Anti microbial) खूबी होती है।

इन रूट पर चलेंगी 12 सितंबर से शुरू होने वाली ट्रेनें

दिल्ली से वाराणसी के लिए वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express), उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh), मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh), ओडिशा (Odisha), महाराष्ट्र (Maharashtra), झारखंड, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, गुजरात (Gujrat), बिहार (Bihar), त्रिपुरा, दिल्ली (Delhi), आंध्रप्रदेश, राजस्थान (Rajsthan), असम और हरियाणा (Hariyana)के मुख्य रुट्स पर ये नई ट्रेनें चलाई जाएंगी।

इसे भी पढ़ें- 12 सितंबर से रेलवे चलाएगा 80 स्पेशल ट्रेन, 10 तारीख से करवा सकेंगे रिजर्वेशन

आपको बता दें, कोरोना संक्रमण के मद्देनजर जारी लॉकडाउन के बीच भारतीय रेलवे ने 12 मई को लिमिटेड पैसेंजर सर्विस शुरूआत की थी। जिसमें दिल्ली से 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें चलाई गई थी। इसके बाद देश के कई शहरों में 1 जून से रेलवे ने 100 जोड़ी ट्रेनें और चलाई। महाराष्ट्र और गुजरात से साप्ताहिक श्रमिक स्पेशल ट्रेनें भी चलाई जा रही हैं। वहीं फेस्टिव सीजन के दौरान मांग तेज होने पर 40 जोड़ी और नई ट्रेनें चलाने गई।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password