Health Tips : ये किडनी के खराब होने के हो सकते हैं सं​केत। जानिए यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के उपाय

uric acid

नई दिल्ली। क्या आप जानते हैं कि आपके शरीर में Health Tips बढ़ते यूरिक एसिड और किडनी का आपस में गहरा संबंध है। हमारे शरीर में जब किडनी यूरिक एसिड को फिल्टर करना बंद कर देती है। जब शरीर में इसकी uric acid मात्रा बढ़ने लगती है। आइए जानते हैं इसे कंट्रोल करने के उपाय।

इसलिए बढ़ता हैै यूरिक एसिड
बढ़ते यूरिक एसिड की समस्या आज कई लोगों में पाई जाती है। uric acid यह समस्या पहले की अपेक्षा अब काफी हद तक बढ़ती जा रही है। शरीर में यूरिक एसिड का स्तर तब बढ़ता है जब किडनी इसे फिल्टर करना बंद कर देती है। सामान्य रूप से किडनी का काम यूरिक एसिड को फिल्टर करना होता है। जो फिल्टर होने के बाद यूरीन के जरिए शरीर से बाहर निकाल दी जाती है। जब शरीर में यूरिक एसिड काफी मात्रा में बनने लगता है और किडनी इसे फिल्टर नहीं कर पाती है तब ब्लड में इसका स्तर बढ़ जाता है।

इसे न करें अनदेखा
कम जानकारी के चलते बहुत से लोग इसके लक्षणों को अनदेखा कर देते हैं। फलस्वरूप यूरिक एसिड का बढ़ा स्तर कई समस्याओं को पैदा करता है। गठिया और जोड़ों में दर्द की समस्या इसी के कारण उत्पन्न होती है।

यह होता है नेचूरल वेस्ट
एक्सपर्ट के अनुसार, शरीर में रोजाना बनने वाला यह यूरिक एसिड एक प्रकार का नेचूरल वेस्ट होता है। जो प्यूरीन नामक कैमिकल से प्राप्त होता है। ये प्राकृतिक कोशिका के टूटने के कारण बनता है।
यह है सामान्य स्तर
— महिलाओं के लिए सामान्य यूरिक एसिड का स्तर 2-6 है।
— पुरुषों के लिए ये लगभग 3-7 है।

यह हो सकता है कारण
विशेषज्ञों की माने तो धूम्रपान, शराब और ज्यादा देर तक बैठे रहने की आदत से शरीर में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है। परिणाम स्वरूप यूरिक एसिड से जोड़ों में सूजन, चलने में दिक्कत और गुर्दे की पथरी भी हो सकती है।

इन चीजों का करें सेवन —
खुद को डाइड्रेट रखें-
खुद को डाइड्रेट रखने से यूरिक एसिड का लेवल नियंत्रण में रहता चाहिए। रोजाना 8-10 गिलास पानी पीने की आदत आपको हर तरह से स्वस्थ्य बना सकती है। प्रतिदिन ताजे फलों का सेवन, विशेष रूप से मौसमी फलों का इस्तेमाल करने से शरीर स्वस्थ रहता है। यूरिक एसिड का लेवल भी नियंत्रण में रहता है। केले का सेवन शरीर की सूजन को कम करता है।

नट्स का उपयोग भी है जरूरी
सूखे मेवे का सेवन शरीर को स्वस्थ रखने के साथ स्फूर्ति भी देता है। रोजाना नट्स का उपयोग यूरिक एसिड को नियंत्रण में रहता है।

डेयरी प्रोडक्ट्स होंगे कारगार
दूध, दही और छाछ का सेवन यूरिक एसिड के लेवल को नियंत्रण में रखता है। विशेषज्ञों की माने तो दिन में एक बार दही के सा​थ किशमिश खाने से यूरिक एसिड नियंत्रण में रहता है। छाछ हाइड्रेटेड रहने में मदद करता है। साथ ही यह आपकी मांसपेशियों और जोड़ों को भी मजबूत बनाता है।

जरूरी है दालों का सेवन
दाल में प्रोटीन की भरपूर मात्रा पाई जाती है. आप अपनी मनपसंद किसी भी एक दाल को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं. इसके अलावा, स्प्राउट्स का सेवन भी यूरिक एसिड के लेवल को नियंत्रण में रखता है.

यह एक्सरसाइज जरूर करें
नियमित व्यायाम यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में एक काफी मददगार होता है। रोजाना 30 मिनट की वॉक आपको स्वस्थ्य रख सकती है। सप्ताह में कम से कम दो दिन स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करे। स्ट्रेच और योग को अपनी दिनचर्या में नियमित रूप से शामिल करे। सोने से पहले एक गिलास हल्दी वाला दूध जरूर लें।

इन चीजों का करें परहेज
यदि आपका यूरिक एसिड बढ़ता है तो आपको केचप, टेट्रा पैक जूस, चॉकलेट, चिप्स और बिस्किट आदि के सेवन से बचना चाहिए। इनका सेवन शरीर में यूरिक एसिड के लेवल को काफी हद तक बढ़ा सकता है।

इससे जुड़े क्या हैं मिथक –
लोग ऐसा मानते हैं कि पालक का सेवन यूरिक एसिड को बढ़ाता है। लेकिन ऐसा नहीं है। पालक का सीमित मात्रा में उपयोग करने से किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होती है। इसमें दूध और डेयरी प्रोडक्ट का सेवन भी सुरक्षित माना गया है। मांस और मछली आपके यूरिक एसिड के स्तर को नहीं बढ़ाते हैं। सप्ताह में दो से तीन बार सीमित मात्रा में इनको खाया जा सकता है। अंडे का सेवन भी सही अनुपात में किया जाए तो यूरिक एसिड नहीं बढ़ता।

(नोट : यह जानकारी विशेषज्ञों द्वारा दी गई है। किसी भी प्रकार की चीजों का उपयोग करने से पहले अपने चि​कित्सक की सलाह जरूर लें। )

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password