Tahsildar Salary : तहसीलदार और नायब तहसीलदार की होती है इतनी सैलरी

Tahsildar And Sub Tahsildar Salary  : आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से तहसीलदार और नायब तहसीलदार को कितनी तनख्बाह (Tahsildar And Sub Tahsildar Salary) मिलती है यह बताने जा रहे है। तहसीलदार की सैलरी की बात करे तो सभी राज्यों के तहसीलदार (Tahsildar And Sub Tahsildar Salary) को अलग-अलग वेतन मिलता है। भारत देश में 29 राज्य है और इन सभी राज्यों में कई जिले होते है और इन जिलो में बहुत सारी तहसील होती है। उस तहसील का प्रशासनिक अधिकारी तहसील का तहसीलदार (Tahsildar And Sub Tahsildar Salary) होता है। तहसील दार को एक तहसील की जनता पर विश्वास बनाए रखने के लिय कई कठोर कदम उठाने पड़ते है। तहसीलदार की जिमेदारी बनती है की तहसील की आर्थिक सामाजिक एवं शारीरिक गतिविधियों का सम्पूर्ण ध्यान उनकी देख रेख में होता है।

कितनी होती है तहसीलदार और उप तहसीलदार की सैलरी

एक तहसील का तहसीलदार बनने के लिए युवा को कम से कम ग्रेजुएशन पास होना अनिवार्य होता है और इसके साथ ही उसकी आयु 21 साल से 42 साल के बीच होनी चाहिए। उसके बाद 4 प्रकार की परीक्षाओं में पास होने के बाद ही तहसीलदार बनने का अवसर मिलता है। अगर हम तहसीलदार की सैलरी (Tahsildar And Sub Tahsildar Salary) की बात करे तो उसकी बेसिक सैलरी तो शुरूआती समय में 9200 रूपये से 34,800 रुपया तक होती है। लेकिन जब उनकी ट्रेनिंग का समय पूरा होने के पश्चात् उनकी सैलरी (Tahsildar And Sub Tahsildar Salary) में 5400 रुपया ग्रेड पे शामिल हो जाता है और अनेको भत्ते होते है अगर हम टोटल सैलरी की बात करे तो करीब 78,000 रुपया से लेकर 1,20,000 रुपया तक बनती है जो एक केन्द्रीय मंत्री की पोस्ट के बराबर मिलता है।

तहसीलदार और उप तहसीलदार में क्या अंतर है

एक तहसीलदार और उप तहसीलदार (Tahsildar And Sub Tahsildar Salary) के बीच के अंतर को हम जाने तो कोई खास अंतर नही है। क्योकि अगर तहसील में तहसीलदार किसी कारण वश कोई कम की वजह से तहसील से बाहर जाता है तब उनके जो भी कार्य है वो उप तहसीलदार द्वारा पूर्ण होता है लेकिन राजस्व विभाग ने इस पद को तहसीलदार एवं उप तहसीलदार (Tahsildar And Sub Tahsildar Salary) में विभक्त कर दिया है। लेकिन दोनों में कोई खास अंतर नही होता है। अगर हम उनकी सैलरी की बात करे तो तहसीलदार की शुरूआती समय में जो सैलरी 9200 से 34,800 रुपया है वो ही वेतन एक उप तहसीलदार की होती है जो सेवा तहसीलदार को मिलती है जैसे गाड़ी, घर, घर की व्यवस्था और पुलिस सुरक्षा भी मिलती है।

क्या होते है तहसीलदार और नायब-तहसीलदार के अधिकार

  • भू-राजस्व व फसल उगाही
  • सरकारी भूमि पर वृक्षों की कटाई का विनियमन करना
  • राजस्व अभिलेखों का प्रतिलिपियों का प्रदाय
  • आदिम जनजाति के भू-स्वामियों का हित संरक्षण।
  • तहसीलदार और उप तहसीलदार और पटवारी का ट्रांसफॉर कर सकता है और उनके पद को भी बड़ा कर सकता है
  • सरकारी जमीनो का सही तरीके से लेखा जोखा
  • शहरी रिक्त भूमियों से आय/आवंटन।
  • तहसीलदार और नायब-तहसीलदार को अपने क्षेत्रों का दौरा करना पड़ता है।
Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password