Breaking News: सिंधिया ने सीएम शिवराज सिंह को लिखा पत्र, कर डाली यह मांग…

ग्वालियर। भाजपा राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीएम शिवराज सिंह को एक पत्र लिखा है। इस पत्र में सिंधिया ने जीवाजी विश्वविद्यालय के मेडिकल कॉलेज निर्माण में मदद करने की मांग की है। सिंधिया ने इसको लेकर सीएम शिवराज सिंह को लिखा कि जीवाजी विश्वविद्यालय के मेडिकल कॉलेज (Medical College) की जमीन का प्रीमियम भू-भाटक राशि माफ की जाए। सिंधिया ने कहा कि नए मेडिकल कॉलेज से ग्वालियर-चंबल (Gwalior-Chambal) के साथ ही पड़ोसी राज्यों उत्तर प्रदेश और राजस्थान के सीमावर्ती जिले के लोगों को भी इससे फायदा मिलेगा। सिंधिया ने सीएम को भेजे पत्र में लिखा कि कोरोना महामारी के दौरान स्वास्थ्य सेवाओं को आम लोगों तक पहुंचाने का काम काफी मुश्किल भरा रहा है। ग्वालियर एक बड़ा शहर है। ग्वालियर से लगे आस-पास के छोटे शहरों भिंड, मुरैना, शिवपुरी, गुना ,छतरपुर, टीकमगढ़, धौलपुर के मरीजों के इलाज के लिए साधन उपलब्ध कराता है।

सुविधाओं को ध्यान में रखकर लिखा पत्र
सिंधिया ने अपने पत्र में लिखा कि कोरोना काल के दौरान स्वास्थ्य सुविधाओं की जरूरत को देखते हुए ग्वालियर में स्वास्थ्य सुविधाओं की अधौसंरचना का विकास करने की जरूरत है। सिंधिया ने सीएम शिवराज सिंह को लिखा कि जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर में एक मेडिकल कॉलेज स्थापित करना चाहता है। इस पर होने वाले खर्चे का वित्तीय भार विश्वविद्यालय द्वारा स्वयं वहन किया जाएगा। सरकार पर इसका बोझ नहीं पड़ेगा। इसलिए मेरा आपसे अनुरोध है कि जीवाजी विश्वविद्यालय के लिए ग्राम तुरारी में 17.45 हैक्टेयर भूमि में मेडिकल कॉलेज आरक्षित की गई है।

सिंधिया ने लिखा कि राजस्व विभाग द्वारा इस जमीन के लिए प्रीमियम राशि 27 करोड 92 लाख रुपए और भू-भाटक की राशि एक करोड़ 39 लाख रुपए बताई गयी है, यह रुपए माफ किए जाने की कार्रवाई के लिए संबंधित को निर्देशित करने का कष्ट करें। सिंधिया ने लिखा कि इस मेडिकल कॉलेज के बाद यहां आस-पास के लोगों के लिए भी बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी। बता दें कि ग्वालियर में मेडिकल कॉलेज शहर से 10 किमी दूर बनाया जा रहा है। इस जिले में अभी केवल एक गजराजा मेडिकल कॉलेज है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password