Reverse Hair Washing Method : नहीं रुक रहा बालों का झड़ना, रिवर्स वॉशिंग करें ट्राई

नई दिल्ली। ठंड का मौसम Reverse Hair Washing Method यानि त्वचा का रूखापान और बालों के झड़ने का मौसम। यदि आप भी शैंपू, कंडीशनर आदि इस्तेमाल करने के बाद भी बालों के झड़ने से परेशान हैं तो आप भी ये खास टेक्निक अपना सकते हैं। जिसका नाम है रिवर्स वॉश। जैसा कि नाम से ही समझ में आ रहा है। जिसमें बालों को रिवर्स फॉर्म में वॉश किया जाता है। आमतौर पर हम जब भी बाल धोते हैं। तो पहले रुटीन में हेयर वॉश करने के बाद कंडीशनर का यूज किया जाता है। उसके बाद बालों को कंडीशन करके तेल लगा लेते हैं। यह रूटीन सभी का बहुत समान होता है।

लेकिन कई महिलाओं पर ये वॉश सूट नहीं होता। जिससे बाल झड़ना भी बंद नहीं होते। ऐसे में एक्सपर्ट आपको रिवर्स हेयर वॉशिंग ट्राई करने की सलाह देते हैं। अगर आप बेजान बालों की समस्या से दो—चार हो रही हैं। साथ ही आपका मन है कि बालों का टेक्सचर सही बना रहे तो आपको भी रिवर्स वाशिंग की तकनीक अपनाना चाहिए। अगर आपने भी इसके बारे में पहली बार सुना है तो आपको इसके बारे में कुछ बातें जरूर जान लेनी चाहिए।

क्या है रिवर्स वाशिंग (Know About Reverse Washing) —
रिवर्स वॉशिंग जैसा कि नाम से ही समझ में आ रहा है ऐसी वॉशिंग जिसमें बालों को उल्टे प्रकार से धोया जाता है। बता दें कि बालों में शैंपू करने से उसका सारा सिबम चला जाता है। और इसके बाद में बालों को अधिक शाइन करने के चक्कर में कंडीशनर का उपयोग करते हैं। पर होता यूं हैं कि कुछ देर बाद बालों में ड्राइनेस और डलनेस आने लगती है। इन सीभ तरह की परेशानियों से बचने के लिए आपको रिवर्स वाशिंग जरूर ट्राई करने चाहिए। इस वॉशिंग का पहला स्टेप कंडीशनर और दूसरा वॉशिंग होता है। इससे फायदे ये होता है कि आपके बालों की जड़ों में सारा मॉइश्चर लॉक हो जाता है। जिससे बालों रुखापन तो कम होता ही है साथ ही उसमें एक अलग शायनिंग दिखाई देने लगती है।

ये लोग ट्राई न करें रिवर्स वॉशिंग (Who Should not Try Reverse Washing) —

इसमें कोई दो राय नहीं है कि रिवर्स वाशिंग के कई लाभ हैं। पर क्या आप जानते हैं कि ये तकनीक हर तरह के बालों के लिए इस्तेमाल नहीं की जा सकती। अगर आपके बाल मोटे हैं और बहुत अधिक उलझते हैं तो इस कंशीडन में आपको ये तकनीक नहीं अपनानी है। शैंपू में आम तौर पर ph लेवल अधिक और कंडीशनर में कम होता है। आपके बालों के लिए इन दोनों संतुलन बहुत जरूरी है। अगर मोटे बालों में इसके ट्राई किया जाता है तो बालों के क्यूटिकल्स खुले रह जाते हैं। जिससे आपके बाल और अधिक फ्रिज़ी बन सकते हैं।

ऐसी होती है रिवर्स वॉशिंग ? (Way To Do Reverse Washing) —
रिवर्स वॉशिंग में सबसे पहले बालों को स्प्रे की सहायता से हल्का सा गीला किया जाता है। उसके बाद हाथों में थोड़ा का कंडीशनर लेकर बालों पर धीरे—धीरे अच्छी तरह से मिलाते हुए लगाए। ध्यान रखें कि पहले बालों के निचले भाग पर कंडीशनर लगाना है उसके बाद ऊपर की ओर जाएं। इसमें स्कैल्प को अवॉइड किया जा सकता है। कुछ देर के लिए कंडीशनर को लगा रहने देने के बाद शैंपू कर लें। ऐसा करने से आप अपने बालों को ड्राय होने से बचा सकते हैं।

रिवर्स हेयर वॉशिंग से होंगे ये फायदे — (Benefits Of Reverse Washing) —

अगर आप भी रिवर्स वॉशिंग तकनीक से अपने बाल धोते हैं तो इससे आपके स्कैल्प भी साफ हो जाते हैं साथ ही हेयर फॉलिकल भी रिपेयर होते हैं। इससे आपके बाल पहले के मुकाबले और अधिक हेल्दी और लंबे हो सकेंगे। यह तकनीक बालों को हाइड्रेटेड करने में भी काफी मदद करती है। साथ ही अगर आपके बाल काफी डल हैं तो आपके बालों को एक नया टेक्सचर भी मिलता है। साथ ही बालों में शाइन भी आती है।  पतले बालों को एक नया टेक्सचर देने में यह तकनीक काफी मददगार साबित होती है। आपको यह तकनीक ट्राई करके देखना चाहिए। इससे पतले बालों को काफी शाइनी और हेल्दी बनाया जा सकता है। अगर आपके बाल आयली होकर ग्रिसी हो जाते हैं तो उस कंडीशन में यह तकनीक जरूर अपनानी चाहिए। बेहतर नतीजों के लिए सिर को हफ्ते में दो बार धोएं।

 

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password