Rain In MP: प्रदेश में सक्रिय हुआ पोस्ट मॉनसून, इन जिलों में बादलों की चमक-गरज के साथ हो सकती है भारी बारिश



Rain In MP: प्रदेश में सक्रिय हुआ पोस्ट मॉनसून, इन जिलों में बादलों की चमक-गरज के साथ हो सकती है भारी बारिश

barish

भोपाल। प्रदेश में बीते दिनों से लगातार उमस के बाद हाल ही में कई जिलों में झमाझम बारिश देखने को मिली है। मंगलवार को राजधानी भोपाल समेत कई जिलों में अच्छा पानी गिरा है। प्रदेश के मॉनसून (MP Weather Reoprt) ने विदा ले ली है। इसके बाद भी पोस्ट मॉनसून के कारण बारिश के आसार बन रहे हैं। बीते दिनों के साथ ही अगले 24 घंटों में भी भारी बारिश की संभावना जताई जा रही है। बारिश के कारण प्रदेश में हल्की सर्दी का भी आभास होने लगा है।

हालांकि मौसम विभाग के जानकारों का कहना है कि बारिश के कारण ठंड अभी नहीं बढ़ेगी। वहीं अगले 2-3 दिनों तक बादल छाने के कारण गर्मी और उमस बढ़ने की संभावना बनी हुई है। वहीं महाराष्ट्र में लो प्रेशर एरिया बनने के कारण एक नया सिस्टम तैयार हुआ है। वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण दक्षिण-पश्चिमी हवाएं और लो प्रेशर एरिया के कारण दक्षिण पूर्वी हवाएं आपस में टकरा गईं। इसी से बादल बरस रहे हैं। प्रदेश में पोस्ट मॉनसून बारिश इसी कारण हो रही है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में बारिश होने के आसार जताए हैं।

इन जिलों में हो सकती है बारिश
मौसम विभाग (MP Weather News) के अनुसार अगले 24 घंटे में उमरिया, बालाघाट, मंडला, सिवनी, डिंडोरी, श्योपुर कलां, शिवपुरी, बैतूल, बुरहानपुर, राजगढ़ एवं गुना जिले में भारी बारिश देखने को मिल सकती है। इन जिलों के लिए मौसम विभाग (IMD Bhopal) ने येलो अलर्ट भी जारी किया है। इन जिलों के साथ ही जबलपुर, शहडोल, रीवा, सागर, भोपाल, होशंगाबाद, इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर और चंबल संभाग के कुछ जिलों में बारिश (Heavy Rain In MP) की चेतावनी दी है। बता दें कि अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। इस कारण एक बार फिर 17 अक्टूबर तक बादलों की चमक गरज के साथ बारिश की संभावना (Rain In MP) बन रही है।

बता दें कि इस साल इंदौर जिले में औसतन बारिश 836.6 मिलीमीटर हुई है। मौसम विभाग द्वारा इंदौर में 102 प्रतिशत बारिश का आकलन किया गया था। यह आकलन बिल्कुल सटीक रहा। बता दें कि प्रदेश में बीते दिनों भारी बारिश हुई थी। इस साल प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति भी बनी। बीते महीनों में ग्वालियर चंबल क्षेत्र में भारी बारिश के कारण आई बाढ़ ने भारी तबाही मचाई थी। इसमें कई लोगों की जान चली गई थी। साथ ही हजारों लोगों का रेस्क्यू किया गया था।

Share This

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password