'राग बैरसिया' मेले का आयोजन, लोकल उत्पादों को मिलेगी पहचान



‘राग बैरसिया’ मेले का आयोजन, लोकल उत्पादों को मिलेगी पहचान

भोपाल: बैरसिया में तीन दिन के राग बैरसिया मेले का आयोजन किया गया है। इस राग बैरसिया मेले को राग भोपाली मेले की तर्ज पर लगाया गया है। इस मेले का उद्देश्य स्वासहायता की मिहलाओं ने बनाए उत्पादों को बढ़ावा देना है।

ये कोशिश बैरसिया की पहचान और यहां के उत्पादों को एक मंच देने की है। राग भोपाली की तर्ज पर प्रशासन ने राग बैरसिया मेले का आयोजन किया है। मकर संक्रांति के मौके पर तीन दिनों तक चलने वाले इसे मेले की शुरुआत की गई। जिसमें स्व सहायता समूहों के बनाए उत्पादों का प्रदर्शन किया जा रहा है और हस्तकला को बढ़ावा देने की कोशिश की जा रही है। लोकल उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए सेल्फी विथ डलिया की थीम भी रखी गई है।

मेले में मकर संक्रांति के लिए तैयार किया गया एक महिला समूह का गिफ्ट पैक लोगों को काफी पसंद आ रहा है। कोल्हूखेड़ी के लक्ष्मी आजीविका मिशन की महिलाओं ने ये विशेष किट तैयार की है। जिसमें पूजन का हर सामान है। जिसकी की कीमत 200 से 300 रुपय है। जो काफी कम है और समूह की महिलाएं इसकी होम डिलेवरी भी कर रही हैं और किट के साथ उपहार भी दे रही हैं।

राग भोपाली की तर्ज पर लगे इस मेले का उद्देश्य स्वसहायता समूह की महिलाओं ने जो उत्पाद बनाए हैं उनको एक मंच के माध्यम से पहचान दिलाना है और बोकल फॉर लोकल को बढ़ावा देना है।

Share This

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password