planetry change august 2021: सूर्य का हुआ सिंह राशि में गोचर, जानिए किस राशि के जातकों की खु​लेगी किस्मत

singh sankranti

नई दिल्ली। नवग्रहों में सबसे बड़ा ग्रह माने जाने planetry change august 2021 वाले सूर्य देव मंगलवार को सिंह Singh Sankranti 2021 राशि में प्रवेश कर रहे हैं। सूर्य देव आज कर्क राशि से सिंह राशि में गोचर करेंगे। सूर्य जिस राशि में प्रवेश करता है। उसी के नाम से संक्रांति होती है। सूर्य के इस राशि परिवर्तन को सिंह संक्रांति कहा जाता है। ग्रहों की बदलती चाल विभिन्न राशि के जातकों पर शुभ—अशुभ फल छोड़ती है। सूर्य का यह परिवर्तन मेष, वृष, कर्क, तुला, वृश्चिक राशियों को आर्थिक लाभ दिलाएगा।

एक माह तक रहेंगे इस राशि में
सूर्य का गोचर 17 अगस्त 2021 मंगलवार को रात 1 बजकर 5 मिनट पर सिंह राशि में होगा। करीब एक माह तक यानि 17 सितंबर 2021 शुक्रवार रात 1 बजकर 2 मिनट तक सूर्य इसी स्थिति में रहेंगे।

ये है सूर्य देव की खासियत
पृथ्वी पर अगर किसी देवता को ऊर्जा का सबसे बड़ा स्रोत Sankranti Shubh Muhurat माना गया है तो वो हैं सूर्य। ये नवग्रहों में भी सबसे बड़े ग्रह माने जाते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य को पिता, राजनीति, आत्मा का कारक माना गया है। कुंडली में इस ग्रह के मजबूत होने से उच्च पद और मान-सम्मान की प्राप्ति होती है। वहीं सूर्य के कमजोर होने पर पिता को कष्ट होता है। आपके जीवन में स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी आ सकती हैं।

सिंह संक्रांति पर जरूर करें घी का सेवन
ज्योतिषाचार्य पंडित रामगोविन्द शास्त्री के अनुसार लोगों को सिंह संक्रांति के दिन घी का सेवन जरूर करना चाहिए। इस दिन इस दिन भगवान विष्णु, सूर्यदेव और भगवान नरसिंह की पूजा की जाती है तथा पवित्र नदियों में स्नान करने के बाद दान-पुण्य किया जाता है।

सिंह संक्रांति पर घी का महत्व
सिंह संक्रांति में घी के सेवन का विशेष Importance of Ghee महत्व होता है। गाय के घी सेवन उत्तम माना गया है। इस दिन घी का सेवन किए जाने के कारण इसे घी संक्रांति भी कहते हैं। सिंह संक्रांति के दिन घी का सेवन शरीर में ऊर्जा, तेज और बुद्धि को बढ़ाता है। धार्मिक मान्यता इस दिन घी खाने से राहू और केतु का कुप्रभाव कम होता है। जो लोग इस दिन घी का सेवन नहीं करते हैं वे अगले जन्म में घोंघे के रूप में पैदा होते हैं। बहुत ही धीमी गति से चलने के कारण घोंघा को आलस्य का प्रतीक माना जाता है। इसलिए सिंह संक्रांति के दिन घी का सेवन शुभकारी व लाभदायक होता है।

ये रहेगा राशियों पर असर —

मेष- सूर्य आपकी राशि के पंचम भाव में होंगे। इस दौरान आपने आप में ऊर्जावान महसूस करेंगे। महत्वाकांक्षाएं बढ़ेंगी। प्रतियोगिता परिक्षाओं के लिए समय अनुकूल है। आर्थिक स्थिति बेहतर होगी। नौकरी और व्यापार से लाभ के योग बन रहे हैं। सिंह संक्रांति इस राशि के लिए बहुत शुभ रहने वाली है। बस थोड़ा स्वास्थ्य का ध्यान रखने की सलाह आपको दी जा रही है।

वृष- सूर्य आपकी कुंडली के चतुर्थ भाव में रहेंगे। इस समय आपका मन खुश और रहेगा। अगर आपका कोई प्रेम संबंध चल रहा है तो उसमें मजबूती आएगी। नौकरी-पेशा वालों का कार्यक्षेत्र में मान-सम्मान बढ़ेगा। परिवार में विवाद की स्थिति बन सकती है।मां के स्वास्थ्य का ध्यान रखने की आपको जरूरत है। व्यापार में लाभ के योग भी दिख रहे हैं।

मिथुन- गोचर के दौरान सूर्य आपकी कुंडली के तृतीय भाव में रहेंगे। सूर्य का यह परिवर्तन आपको भी ऊर्जा प्रदान करेगा। कार्यक्षेत्र में आपको सफलता मिल सकती है। परिवार में खुशनुमा माहौल रहेगा। मित्रों और भाई-बहनों का सहयोग मिल सकता है। यात्रा पर जाने के योग भी बनते दिख रहे हैं। मान-सम्मान बढे़गा। आपका व्यवहार आपको प्रशंसा दिलाएगा। विद्यार्थियों को प्रतियोगिता के लिए समय अच्छा है।

कर्क- सूर्य का यह गोचर आपके द्वितीय भाव में रहेगा। सोच-समझकर कार्य करें। नैतिक क्षमता में वृद्धि हो सकती है। छात्रों के लिए समय अनुकूल है। मां का सहयोग मिलेगा। आर्थिक लाभ हो सकता है। निवेश करने पर भी फायदा होगा।

सिंह- सूर्य का गोचर लग्न भाव में होगा। इस दौरान आपका मन प्रसन्न रहेगा। नौकरी के क्षेत्र से जुड़े लोगों को सम्मान मिलेगा। प्रतियोगिता के लिए अनुकूल समय है। वैवाहिक जीवन में कुछ कठिनाई आ सकती है। जीवनसाथी से मतभेद हो सकता है। हैं. व्यापार से लाभ होगा।

कन्या- आपकी कुंडली में सूर्य इस समय द्वादश भाव में होंगे। इस दौरान आपका मन स्वयं पर पैसे खर्च करने को करेगा। यात्रा पर भी जा सकते हैं। विदेशी कंपनियों से जुड़े लोगों के लिए समय अनुकूल है। कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी।

तुला- इस गोचर के दौरान सूर्य एकादश भाव में रहेंगे। आपका मन साहस और उत्साह से भरा रहेगा। विरोधी पराजित होंगे। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। व्यापार से लाभ होगा। निवेश से लाभ के योग हैं। शोधकार्य से जुड़े लोगों को सफलता मिल सकती है। एकाग्रता बढ़ेगी। प्रेम संबंधों में विवाद हो सकता है। वाणी पर संयम रखें।

वृश्चिक- सूर्य दशम भाव में होंगे। इस दौरान लोग आपकी ओर आकर्षित होंगे। कार्यक्षेत्र में सफलता मिल सकती है। सरकारी क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए समय अनुकूल है। विरोधी परास्त होंगे। प्रतिष्ठा बढेगी। अचानक कहीं से धन आगमन हो सकता है। पैतृक संपत्ति से भी लाभ मिल सकता है।

धनु- इस गोचर के दौरान सूर्य नवम भाव में रहेंगे. इस दौरान आपके आत्मविश्वास में वृद्धि होगी. विदेश यात्रा के योग हैं. शिक्षा के क्षेत्र में सफलता मिल सकती है. भाग्य का साथ मिलेगा. शिक्षकों के लिए समय अच्छा है. इस दौरान आपकी धार्मिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी.

मकर- सूर्य का गोचर अष्टम भाव में रहेगा। इस दौरान आपमें उत्साह और साहस का संचान होगा। आपकी नेतृत्व क्षमता बढ़ेगी। कार्यों में सफलता हासिल करेंगे। व्यय पर नियंत्रण रखना होगा। अध्यातम से जुड़े कार्यों में रुचि बढ़ेगी।

कुंभ- सूर्य का गोचर इस राशि के सप्तम भाव में होगा। दांपत्य जीवन में मनमुटाव हो सकता है। वाणी पर संयम रखें। नौकरी में सफलता के भी योग दिख रहे हैं। स्वाथ्स्य संबंधी परेशानियां आ सकती हैं। कार्यक्षेत्र में सफलता के योग हैं।

मीन- सूर्य का गोचर षष्ठम भाव में रहेगा। प्रतिष्ठा बढ़ेगी। कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी। प्रतियोगिता में सफलता मिलेगी। एनर्जेटिक महसूस करेंगे। सरकारी क्षेत्र से जुड़े लोगों को सफलता मिल सकती है। आप लोगों को अपनी ओर आकर्षित करेंगे।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password