Planetary change : दैत्यगुरू शुक्र बदलने वाले हैं स्थान

Planetary change

नई दिल्ली। भाग्य का कारक माने जाने वाले दैत्य गुरू शुक्र 11 अगस्त यानि बुधवार को अपनी नीच राशि कन्या में प्रवेश करने जा रहे हैं। ज्योतिषाचार्य पंडित रामगोविन्द शास्त्री के अनुसार इनका सभी राशियों पर अच्छा—बुरा असर दिखाएगा। शुक्र का ये राशि बुधवार को सुबह 11:20 बजे होगा और वे इस राशि में 06 सितंबर तक रहेंगे।

12 राशियों पर असर-

1. मेष राशि
इस समय शुक्र आपकी राशि से षष्टम भाव यानि शत्रु व रोग भाव में गोचर करेंगे। इस दौरान आपकी इम्यूनिटी में कमी आएगी। आपसी संबंधों में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। शत्रु सक्रिय रहेंगे। अगर नियमों का पालन नहीं किया तो कोर्ट-कचहरी के चक्कर लगाने पड़ सकते हैं। तनाव की संभावना के बीच दांपत्य जीवन में किसी भी चीज भी सहमति नहीं बनेगी। छोटी—छोटी बातों पर आपसी मतभेद खुलकर सामने आने लगेंगे। जीवन साथी की सेहत में उतार—चढ़ाव आ सकता है।
साझेदारी के व्यापार में सतर्क रहना होगा। अन्यथा पार्टनर के साथ तालमेल खराब होकर बड़े विवाद का कारण बन सकते हैं। उधारी लेने से बचें। वरना परेशानी में फंस सकते हैं। खर्च और आमदनी में संतुलन बनाना होगा। नौकरीपेशा जातकों को मनचाहा फल नहीं मिलेगा। वरिष्ठ महिला अधिकारी से सतर्क रहें।

उपाय- प्रतिदिन खाली पेट नींबू पानी पिएं।

2. वृषभ राशि
इस समय शुक्र आपकी राशि से पंचम भाव यानि पुत्र व बुद्धि भाव में गोचर करेंगे। ऐसे में शिक्षा से भ्रमित होकर छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। विकास के कई अवसर मिलेंगे। फलस्वरूप आय में वृद्धि होगी। अपने अच्छे कार्य के चलते प्रशंसा भी मिलेगी। कुछ को इस समय अपने विचारों और नीतियों को अपनाने में कुछ परेशानी हो सकती है। इसका सबसे अधिक प्रभाव आपके कार्यस्थल पर दिखाई देगा। प्रेमी के साथ हुआ टकराव प्रेम संबंधों पर असर पड़ेगा। चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े जातकों के लिए समय सामान्य से बेहतर रहने की उम्मीद है।

उपाय- हर रोज शुक्रदेव के मंत्र “ॐ शुक्राय नमः” का 108 बार जप करें।

3. मिथुन राशि
इस समय शुक्र आपकी राशि से चतुर्थ भाव यानि माता व सुख भाव में गोचर करेंगे। इस समय आप अपने परिवार से थोड़ा अलग-थलग पड़ सकते हैं। इस समय आपको स्वभाव में सकारात्मक बदलाव करना होगा। वहीं यदि आप मकान या ज़मीन का कोई निवेश सोच रहे हैं, तो अभी इंतजार करें। वहीं शेयर बाजार से जुड़ा निवेश करना फायदेमंद रह सकता है। यह समय सर्विस सेक्टर में काम करने वालों के लिए ज्यादा लाभकारी रहने की उम्मीद है।

उपाय- रोज माता लक्ष्मी की पूजा करें।

4. कर्क राशि
इस समय शुक्र आपकी राशि से तृतीय भाव यानि पराक्रम व छोटे भाई—बहनों के भाव में गोचर करेंगे। इस समय आपको कुछ खाली खाली सा महसूस होगा। पैसे को लेकर भाई-बहनों के साथ कुछ समस्या सामने आ सकती है। खर्चों पर लगाम लगानी होगी। संबंधों को सुधारने के साथ—साथ कार्यक्षेत्र में भी सफलता के लिए अधिक प्रयास करने होंगे।

उपाय- प्रतिदिन माता—पार्वती की पूजा करें।

5. सिंह राशि
शुक्र आपकी राशि से द्वितीय भाव यानि धन व वाणी भाव में गोचर करेंगे। इस समय आप जितनी मेहनत करेंगे उस अनुपात में सफलता कम मिलेगी। आत्मविश्वास बनाए रखें। आर्थिक रूप से थोड़ी कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है। महिला अधिकारी से बच कर रहें। अन्यथा अप​मानित महसूस करेंगे। निवेश करने से बचे। खर्चों पर रोक लगाएं। विनम्र रहें तभी समस्याएं हल होंगी। सेहत को लेकर सतर्क रहें।

उपाय- शुक्रवार को देवी मां की पूजा करें।

6. कन्या राशि
इस समय शुक्र आपकी ही राशि यानि आपके लग्न भाव में गोचर करेंगे। आलोचना हो सकती है। फलस्वरूप धन खर्च बढ़ सकता है। वहीं दांपत्य जीवन में भी संतुष्टि की कमी रहेगी। वहीं इस समय आपका प्रेमी भी आपको किसी बात को लेकर कष्ट दे सकता है। खर्चों की अपेक्षा आमदनी कम होगी। पिता से कहा—सुनी हो सकती है। बचत को लेकर असुरक्षित महसूस करेंगे।

उपाय- शिवजी की पूजा करें।

7. तुला राशि
इस समय शुक्र आपकी राशि से द्वादश भाव यानि व्यय भाव में गोचर करेंगे। सेहत का खास ध्यान रखना होगा। शेयर मार्केट और पैसे संबंधी कार्यों से जुड़े जातकों के लिए ये समय अनुकूल रहेगा। दांपत्य जीवन में उतार—चढ़ाव रहेगा। खान—पान की ओर विशेष ध्यान देना होगा। विदेश यात्रा के लिए समय अनुकूल है। परिवार से दूर रहना पड़ सकता है। वहीं इस कालखंड में वाहन चलाते समय खास सतर्कता बरतनी होगी।

उपाय- मां दुर्गा की पूजा करें।

8. वृश्चिक राशि
इस समय शुक्र आपकी राशि से एकादश भाव यानि आय भाव में गोचर करेंगे। यह समय कॅरियर में उतार—चढ़ाव लाने वाला होगा। खर्चे ज्यादा होने संतुष्ट नहीं रह पाएंगे। गलतफहमी का शिकार होने के साथ ही भाग्य भी आपका कम ही साथ देता दिख रहा है। किसी के सामने अपनी भौतिक सुख-सुविधाओं का बखान न करें। बड़े समय के लिए निवेश करने से बचें। यात्रा टालें। महिलाकर्मियों से दूरी बना कर चलें। तर्क—वितर्क से दूर रहें। बड़े भाई-बहनों से मतभेद की संभावना है। वहीं कुछ रिश्तों में भी दरार आने की संभावना है।

उपाय- शनिदेव को तेल चढ़ाएं।

9. धनु राशि
इस समय शुक्र आपकी राशि से दशम भाव यानि कर्म भाव में गोचर करेंगे। कार्यों में लापरवाही भविष्य चौपट कर सकती है। अपने कार्य करने के तरीको को सुधारने के साथ ही वाणी में भी सुधार लाएं। व्यवसाय से जुड़े लोग प्रतिस्पर्धा से जूझेंगे। नेतृत्व करने की क्षमता इस समय सबसे अधिक प्रभावित होने वाली होगी। आशा अनुरुप धन नहीं मिलने से परेशानियों के बीच नुकसान भी उठाना पड़ सकता है। कार्य की समय सीमा तय करें। वाणी में संयम रखें। अधिकारियों से मतभेद को टालें। तनाव के चलते परिवार को समय नहीं दे पाएंगे।

उपाय- प्रति दिन सरस्वती वंदना करें।

10. मकर राशि
इस समय शुक्र आपकी राशि से नवम भाव यानि भाग्य भाव में गोचर करेंगे। यह समय कुछ जातकों के लिए खास रह सकता है, वहीं कई जातकों को इस समय भी भाग्य का साथ कम ही मिलेगा। आत्मविश्वास की कमी आपके प्रदर्शन को प्रभावित कर सकती है।
बड़ा निर्णय लेने से बचें। कार्यक्षेत्र में मन नहीं लगने से अधिकारियों में ग़लतफहमी उत्पन्न हो सकती है। यात्रा संभलकर करें। मानसिक तनाव बढ़ सकता है। छात्रों के लिए भी ये समय कुछ खास नहीं रहेगा।

उपाय- देवी पार्वती की पूजा करें। शुक्रवार को सफेद मिठाई का भोग लगाएं।

11. कुंभ राशि
इस समय शुक्र आपकी राशि से अष्टम भाव यानि आयु भाव में गोचर करेंगे। कड़ी मेहनत करने का समय है। घर में तनाव बढ़ सकता है। असंतुष्टि के बीच गलत कदम उठाने से बचें। स्थाई संपत्ति में निवेश से बचें। प्रयास अधिक करना पड़ेगा। तभी कुछ हद तक सफलता मिल सकती है। विदेश में रहने वालों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय- भगवान शंकर की पूजा करें।

12. मीन राशि
इस समय शुक्र आपकी राशि से सप्तम भाव यानि विवाह भाव में गोचर करेंगे। समय शुभ फल प्राप्ति का नहीं दिख रहा है। इस समय मानसिक तनाव में वृद्धि के बीच खुद को शांत रखने की जरूरत है। काम पर ध्यान केंद्रीत नहीं रहने से नौकरी पेशा वालों के लिए भी ये समय ज्यादा अच्छा नहीं कहा जा सकता। पूरी ऊर्जा के साथ, हर समस्या को हल करने की कोशिश करें। साझेदारी के व्यापार में दिक्कतें आ सकती हैं। प्रतिकूल समय होने के कारण निवेश और नए सौदे करने से बचे। जीवन साथी से स्पष्ट बात कर तनाव को दूर करने की कोशिश करें। सेहत का ध्यान रखें।

उपाय- शुक्रवार की शाम को घर पर कपूर जलाएं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password