एक बार फिर परीक्षा में हुई धांधली

CISF Constable Bharti 2022: एक बार फिर परीक्षा में हुई धांधली

दुर्ग। CISF Constable Bharti 2022इस वक्त की बढ़ी खबर छत्तिसगढ़ के दुर्ग से सामने आ रही है जहां पर दुर्गपुलिस ने केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) की भर्ती परीक्षा के दौरान धोखाधड़ी करने के आरोप में छह आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।CISF Constable Bharti 2022

पुलिस अधिकारी का बयान

आपको बताते चलें की हाल ही में छत्तिगढ़ के दुर्ग जिलें में CISF की भर्ती चल रही थी ।CISF Constable Bharti 2022 वही इस भर्ती को लेकर धोखाधड़ी होने लगी। वही एक पुलिस अधिकारी ने अपने बयान में बताया कि CISF अधिकारियों की शिकायत पर पुलिस ने उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के निवासी चन्द्रशेखर (20 वर्ष), श्याम वीर सिंह निषाद (20 वर्ष), महेन्द्र सिंह (19 वर्ष), अजित सिंह (19 वर्ष), दुर्गेश सिंह (31 वर्ष) और हरिओम (25 वर्ष) को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस महीने की 18 तारीख को सीआईएसएफ के निरीक्षक लोकेश कुमार कुर्रे ने जिले के उतई थाना में सीआईएसएफ के आरक्षक जीडी 2021 की परीक्षा के दौरान भर्ती बोर्ड को धोखा देकर चयन प्रक्रिया में कुछ लोगों के शामिल होने की शिकायत की थी। शिकायत में कहा गया था कि शारीरिक जांच के दौरान जब अभ्यर्थियों की बायोमेट्रिक जांच (जीवमितिक जांच) की गई, तब फिंगर प्रिंट तथा फोटो में समानता नहीं थी। उन्होंने बताया कि सीआईएसएफ के अधिकारी की​ शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू की और छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जब आरोपियों से पूछताछ की गई तब उन्होंने बताया कि उन्होंने सीआईएसएफ में भर्ती कराने के लिये प्रत्येक अभ्यर्थी से पांच-पांच लाख रुपये लिये तथा फर्जी दस्तावेज तैयार करवाए थे।CISF Constable Bharti 2022

कई लोगों को किया गिरफ्तार

वही भर्ती प्रक्रिया के दौरान अलग-अलग लोगों को अभ्यार्थी के रूप में प्रस्तुत किया जाता था। CISF Constable Bharti 2022उन्होंने बताया कि आरोपियों से छत्तीसगढ़ का फर्जी स्थायी निवासी और आधार कार्ड बरामद किया गया है। दुर्ग जिले के पुलिस अधीक्षक डॉक्टर अभिषेक पल्लव ने बताया पकड़े गए आरोपी जिन अभ्यर्थियों की परीक्षा दे रहे थे उन्हें भी गिरफ्तार करने के लिए आगरा और मुरैना के लिए दो दल रवाना किया गया है। इनके पकड़े जाने के बाद इस संबंध में और भी कई खुलासे हो सकते है। पल्लव ने कहा, ‘‘गिरोह का एक दल लिखित परीक्षा देता था और दूसरा दल शारीरिक परीक्षा देता था। लिखित परीक्षा कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) के द्वारा लिया जाता है, इसलिए एसएससी से भी जानकारी मांगी गई है।CISF Constable Bharti 2022

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password