NATRAX: जानिए एशिया के सबसे लंबे हाई स्पीड टेस्टिंग ट्रैक में क्या है खास

NATRAX

इंदौर। देश और खासकर मध्य प्रदेश के लिए मंगलवार का दिन काफी खास था। क्योंकि इस दिन के बाद अब देश को हाई-एंड कारों की अधिकतम हाई स्पीड टेस्ट करने के लिए अब विदेशों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। क्योंकि अब देश में ही हाई स्पीड ट्रैक बनकर तैयार हो गई है। मध्य प्रदेश के इंदौर में एशिया का सबसे लंबा हाईस्पीड ट्रैक NATRAX बनकर तैयार हो चुका है।

इस मामले में भी भारत हुआ आत्म निर्भर

इस ट्रैक पर अब हाई स्पीड गाड़ियां चालाई जा सकेंगी और उनकी टेस्टिंग भी की जा सकेगी। यहां गाड़ियों की स्पीड, माइलेज, एक्सीलरेशन, रियलरोड ड्राइविंग सिमुलेशन और अन्य तरह की टेस्टिंग की जाती है। बतादें कि पहले भारत इस काम के लिए विदेशों पर निर्भर रहता था। क्योंकि देश में एक भी हाई स्पीड टेस्टिंग ट्रैक नहीं था। हाई स्पीड टेस्टिंग ट्रैक का इस्तेमाल बीएमडब्ल्यू, मर्सिडीज, ऑडी, फेरारी, लेम्बोर्गिनी, टेस्ला आदि जैसी हाई-एंड कारों कि क्षमता मापने के लिए किया जाता है। मंगलवार से पहले इन कारों को भारत के किसी भी परीक्षण ट्रैक पर नहीं मापा जा सकता था। ऐसे में भारत को विदेशों पर निर्भर रहना पड़ता था, लेकिन अब इस मामले में भी देश आत्म निर्भर हो चुका है।

ट्रैक की क्या है खासियत

मालूम हो कि हाई स्पीड ट्रैक NATRAX को 1000 एकड़ क्षेत्र में विकसित किया गया है। यहां दो पहिया वाहनों से लेकर भारी ट्रैक्टर ट्रेलरों तक सभी प्रमुख गाड़ियों का हाई स्पीड टेस्ट किया जा सकता है। इंदौर में स्थापित 11.3 किमी लंबा हाई स्पीड ट्रैक विश्व स्तरीय है। इस ट्रैक को 16 मीटर चौड़ा बनाया गया है और यह ओवल आकार यानी अंडाकार है। इसे 250 किलोमीटर प्रति घंटे तक की न्यूट्रल स्पीड और कर्व पर 375 किलोमीटर प्रति घंटे की अधिकतम स्पीड के लिए डिजाइन किया गया है।

एशिया का सबसे लंबा ट्रैक है

इंदौर से 50 किलोमीटर दूर इस ट्रैक को बनाया गया है। यह ट्रैक एशिया का सबसे लंबा ट्रैक है। ट्रैक मध्य प्रदेश में स्थित होने के कारण, यह अधिकांश ओईएण के लिए सुलभ है। विदेशी ओईएम भी भारतीय परिस्थितियों के लिए प्रोटोटाइप कारों के लिए NATRAX एचएसटी का इस्तेमाल कर सकेंगे।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password