Narendra Modi: साल भर में घटी मोदी की पॉपुलैरिटी, जानिए कौन बना हुआ है अब भी लोकप्रिय….

MODI

नई दिल्ली। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता एक साल में 66 फीसदी से गिरकर 24 प्रतिशत पर आ गई है। दरअसल, यह बात अंग्रेजी न्यूज चैनल इंडिया टुडे के मूड ऑफ द नेशन पोल के जरिए सामने आई है।

बता दें कि, इस सर्वे में लोगों से पूछा गया था कि भारत के लिए सबसे उपयुक्त अगला पीएम कौन होना चाहिए? तो इसके जवाब में सिर्फ 24 फीसदी लोगों ने मोदी को अपनी पहली पसंद बताया, जबकि जनवरी 2021 के पोल में मोदी 38 फीसदी लोगों की पसंद थे।

वहीं, अगस्त 2020 में पीएम के लिए 66 फीसदी जनता ने मोदी को अपनी पहली पसंद बताया था। इन सब के बीच खास बात यह है कि, भारतीय जनता पार्टी (BJP) के फ्रायर ब्रांड नेता होने के बाद मोदी की लोकप्रियता भले ही कम हो गई हो, मगर उन्हीं की पार्टी के और उनसे अच्छे संबंध रखने वाले दो नेताओं की पॉपुलैरटी में इजाफा हुआ।

पोल के अनुसार, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अगस्त 2021 में 11 प्रतिशत प्रतिभागियों ने पीएम के लिए सबसे अच्छा माना। जनवरी 2021 में यह आंकड़ा 10 फीसदी था, जबकि अगस्त 2020 में सिर्फ तीन फीसदी लोग ही उन्हें पीएम पद क्र लिए बेहतर मानते थे।

सर्वे में बताया गया है कि, केंद्रीय गृह मंत्री और मोदी सरकार में नंबर-2 माने जाने वाले अमित शाह को अगस्त 2021 में सात फीसदी लोगों ने पीएम के लायक समझा है। वहीं, जनवरी 2021 में यह आंकड़ा आठ प्रतिशत था, जबकि अगस्त 2020 में महज चार फीसदी लोगों में वह पीएम के रूप में पसंद थे।

बात की जाए विपक्षी नेताओं की बात, तो इनमें पूर्व कांग्रेस चीफ राहुल गांधी की लोकप्रियता अगस्त 2021 में 10 फीसदी, जनवरी 2021 में सात फीसदी और अगस्त 2020 में आठ प्रतिशत थी।

इसके साथ ही, दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल को अगस्त 2021 में आठ फीसदी लोगों ने पीएम के तौर पर पहली पसंद बताया। जनवरी 2021 में यह आंकड़ा चार प्रतिशत पर था, जबकि अगस्त 2020 में केवल दो फीसदी लोगों की राय में वह पीएम बनने के स्तर के नेता थे।

इतना ही नहीं, तेज तर्रार छवि वाली पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी की लोकप्रियता भी पहले के मुकाबले काफी बढ़ी है। अगस्त 2020 में सिर्फ दो फीसदी लोग उन्हें पीएम के लिए फिट मानते थे, पर जनवरी 2021 आते-आते यह आंकड़ा दोगुना होकर चार हुआ और फिर अगस्त 2021 में आठ प्रतिशत हो गया है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password