MP Weather Update:: इस तारीख को प्रदेश में अलविदा कहेगा मॉनसून! इतने प्रतिशत अधिक हुई बारिश

MP Weather Update: इस तारीख को प्रदेश में अलविदा कहेगा मॉनसून! इतने प्रतिशत अधिक हुई बारिश

भोपाल। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शनिवार को कहा कि अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में मानसून के मध्य प्रदेश से विदा होने की उम्मीद है, जो कि मानसून की सामान्य प्रस्थान तिथि से कम से कम दस दिन आगे है। मध्य प्रदेश में इस बार दक्षिण पश्चिम मानसून 10 जून को आया था। आईएमडी, भोपाल(IMD) कार्यालय के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी पीके साहा ने शनिवार को बताया, इस महीने के दूसरे सप्ताह से मानसून मध्य प्रदेश में थमना शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इस बार यह थोड़ा लंबा खिंच गया क्योंकि यह आम तौर पर जून के पहले दिन शुरू होता है और सितंबर के आखिरी दिन समाप्त होता है।

कुछ हिस्सों में हो रही बारिश
वर्तमान में मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में हो रही बारिश पर साहा ने कहा कि ऐसा वातावरण में नमी और कुछ अन्य स्थानीय कारकों के कारण हुआ है। साहा ने बताया कि पिछले 24 घंटों में पश्चिमी मध्य प्रदेश में खंडवा शहर में सबसे अधिक 103 मिमी बारिश हुई, जबकि पूर्वी मध्य प्रदेश के सिवनी जिले के पेंच इलाके में सबसे अधिक 6.5 मिमी बारिश हुई। उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटों में पश्चिमी मध्यप्रदेश के खंडवा, इंदौर, बैतूल, बुरहानपुर, उज्जैन, देवास, शाजापुर और धार जिलों में भी बारिश हुई। इस तरह पूर्वी मध्य प्रदेश में सिवनी के अलावा सिंगरौली, छिंदवाड़ा, पन्ना और सीधी जिलों में बूंदाबांदी हुई।

इन जिलों बारिश की संभावना
अगले 24 घंटों में बड़वानी, खरगोन, खंडवा, बुरहानपुर और छिंदवाड़ा जिलों में गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। आईएमडी के एक अन्य वरिष्ठ मौसम विज्ञानी जी डी मिश्रा ने बताया कि मध्य प्रदेश में इस मानसून में राज्य में औसत से थोड़ी अधिक बारिश हुई है। एक जून से बृहस्पतिवार सुबह तक राज्य में 940.6 मिलीमीटर की सामान्य बारिश के मुकाबले इस बार 945.2 मिमी बारिश हुई।

श्योपुर जिले में 100 प्रतिशत अधिक बारिश हुई जबकि गुना और शिवपुरी जिलों में औसत से क्रमश: 84 और 62 प्रतिशत अधिक बारिश हुई। मिश्रा ने कहा कि प्रदेश के उत्तरी हिस्से के तीन जिलों में मानसून के दौरान अधिक बारिश हुई। विशेषकर ग्वालियर और चंबल संभाग पिछले महीने बाढ़ से प्रभावित हुए थे। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी ने कहा कि कुल मिलाकर मध्य प्रदेश के 11 जिलों में सामान्य से अधिक बारिश हुई जबकि नौ जिलों में सामान्य से कम बारिश हुई। मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र के दमोह जिले में औसत से 38 प्रतिशत कम बारिश हुई जो प्रदेश में सबसे कम है। यहां 1046.3 मिमी औसत के मुकाबले अब तक केवल 644.8 मिमी बारिश हुई है। मिश्रा ने कहा कि भोपाल, इंदौर, और ग्वालियर सहित 31 जिलों में सामान्य बारिश हुई है। पूर्वी मध्य प्रदेश में सामान्य से 15 फीसदी कम बारिश तथा राज्य के पश्चिमी भाग में 15 प्रतिशत अधिक बारिश हुई है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password