दुल्हन की तरह सजा ओरछा, आज होगा प्रभु राम का विवाह कार्यक्रम सम्पन्न

MP News: दुल्हन की तरह सजा ओरछा, आज होगा प्रभु राम का विवाह कार्यक्रम सम्पन्न

mp-news
Share This

MP News: आज बुंदेली रीति-रिवाजों ओर राजसी परंपरा के साथ राजाराम का विवाह कार्यक्रम होगा। सम्पन्न ढोल नगाड़ों और डी जे की धुन पर नाचेगी भगवान की प्रजा। कार्यक्रम की साजसज्जा मंदिर प्रशासन द्वारा की गई है और बारात के पूरे मार्ग में झंडे व लाइटनिंग झालरों से सजावट की गई है।

ठाठ-बाठ के साथ निकलेगी प्रभु राम की बारात

भगवान राम राजा की नगरी ओरछा में सदियों से  मनाए जाने वाला राम-जानकी विवाह महोत्सव को लेकर नगर सहित पूरे बुंदेलखंड के लोगों में भारी उत्साह रहता है। 15 से 17 दिसंबर तक आयोजित इस पारंपरिक विवाह महोत्सव की मंदिर प्रबंधन और जिला प्रशासन द्वारा  व्यापक स्तर पर तैयारियां की गई हैं।

इस पावन महोत्सव की मंगल बेला पर धार्मिक नगरी ओरछा को दुल्हन की तरह सजाया गया है। 17 दिसम्बर को रात 8 बजे राजसी ठाठ-बाठ, ढोल नगाड़े, गाजेबाजों, बग्गी-घोड़ों के साथ श्री राम की  बारात राजशी वैभव के साथ निकलेगी।

लाखों की सख्या में श्रद्धालु पहुंचे ओरछा

वरयात्रा के मंदिर से निकलते ही सशस्त्र पुलिस बल द्वारा राम सरकार को गॉर्ड ऑफ़ ऑनर दिया जायेगा। इसके बाद श्री राम जी अपने छोटे भाई लक्ष्मण जी के संग पालकी में विराजमान होकर पूरे नगर वासियों को दर्शन देने नगर भ्रमण पर निकलेंगे।

इस पावन अवसर पर मंगल कलश सिर पर रख महिलाएं खड़े होकर भगवान राम का स्वागत करती हैं। लोग भगवान राम का अपने-अपने दरवाजे पर टीका करते हैं और भगवान की बरात नगर भ्रमण के बाद मुख्य चौराहे पर स्थित जानकी मंदिर पहुंचती है। वहाँ मंदिर के पुजारी भगवान राम का टीका करते हैं।  प्रभु की बारात में शामिल होने लाखों की सख्या में श्रद्धालु ओरछा पहुँचते हैं।

ऐसे होता है 3 दिन का कार्यक्रम

इस भव्य अवसर में शामिल भीड़-भाड़ को देखते हुए पूरी बारात में पुलिस की पूरी व्यवस्था रहेगी। मंदिर प्रांगण में बहुत ही सुंदर पांडाल लगाए गए हैं। नगर की महिलाएं द्वारा सांस्कृतिक बुंदेली गायन किया जा रहा है।

श्री राम का विवाह कार्यक्रम 3 दिवसीय का होने वाला है। इस राम विवाह कार्यक्रम में पहले दिन तेल और हल्दी का प्रोग्राम किया जाता है। जिसमें नगर की महिलाओं द्वारा भगवान राम को तेल हल्दी चढ़ाई जाती है।

दूसरे दिन मंडप का कार्यक्रम विधि-विधान से जिले के प्रशासन और नगर के लोगों द्वारा मंडल में बैठकर खाना खाया जाता है और विधि विधान से भगवान श्री राम की पूजा की जाती है। इसी के साथ दूसरे दिन विशाल भोज का आयोजन किया जाता हे।

तीसरे दिन भगवान राम की बारात पूरे राजसी अंदाज में निकाली जाती हे और जानकी मंदिर पर टीका किया जाता है। इसके बाद भगवान राम अपने निवास पहुंचते है जहां परिग्रहण संस्कार विधि-विधान से किया जाता है।

ये भी पढ़ें: 

State Mourning: मध्य प्रदेश में एक दिन का राजकीय शोक घोषित, कुवैत के शासक के निधन पर दुख

Indore News: इंदौर में आज एनआरआई समिट, 40 देशों के अप्रवासी इंदौरी होंगे शामिल

Libya News: लीबिया में प्रवासियों से भरा जहाज डूबा, दर्दनाक हादसे में गई 60 से ज्यादा की जान

MPPSC EXAM 2023: प्रदेश में MPPSC प्रीलिम्स की परीक्षा आज, 14 हजार 823 परीक्षार्थी होगें शामिल

Indore News: रेलवे-पुलिस में नौकरी दिलवाने के नाम पर 16 लाख की ठगी, ऐसे सामने आया सच

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password