Mangal Ka gochar 2021 : आज से बदल रहे हैं मंगल, हो सकते हैं बड़े बदलाव, बन सकते हैं बारिश के भी योग

नई दिल्ली। शुक्र के साथ—साथ ग्रहों में सबसे अधिक Mangal Ka gochar 2021 उत्पाद मचाने वाला मंगल आज से फिर एक अपना राशि परिवर्तन करने जा रहे हैं। इतना ही नहीं इसी के साथ ये बारिश के भी योग बना सकता है। ग्रहों की चाल अलग—अलग पंचांगों के आधार पर तय की जाती है। पंडित राम गोविन्द शास्त्री के अनुसार “चलत अंगार के वृष्टि कारक:” यानि जब भी ग्रह का राशि परिवर्तन होता है। तभी बारिश के योग जरूर बनते हैं। उनकी गणना में कुछ दिनों का अंतर देखने को जरूर मिलता है। लाला रामस्वरूप के अनुसार मंगल का गोचर 4 दिसंबर लेकिन लोक विजय पंचांग के अनुसार कल यानि 7 दिसंबर को होेने वाला है।
चूंकि कल से एक बार फिर मंगल अपनी राशि परिवर्तित कर यानि तुला से वृश्चिक में प्र​वेश करने जा रहे हैं। जिसका असर मौसम के साथ—साथ सभी राशियों पर देखने को जरूर मिलेगा। ज्योतिषाचार्य पंडित राम गोविन्द शास्त्री के अनुसार अभी तक तुला राशि में चल रहे मंगल वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे। इनके इस गोचर से जातकों को क्रोध, वाणी पर संयम रखना होगा। इतना ही नहीं साथ ही सा​थ यह बारिश के योग भी बनाता है।

अलग—अलग पंचागों में है तिथियों का अंतर —
लोक विजय पंचांग के अनुसार मंगल का यह परिवर्तन 7 दिसंबर को राशि परिवर्तन करेंगे। तो वहीं पंडित अनिल कुमार पाण्डेय का कहना है कि लाला राम स्वरूप कैलेंडर के अनुसार मंगल का यह गोचर 4 दिसंबर को 5:29 रात अंत होगा। जब मंगल तुला से वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा। तुला राशि का स्वामी शुक्र है मंगल से सम भाव रखता है। अर्थात वर्तमान में मंगल न तो अपने मित्र के घर में है और ना ही शत्रु के घर में। वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल स्वयं है और वृश्चिक राशि में प्रवेश के उपरांत मंगल स्वराशि का होने के कारण अत्यंत ताकतवर स्थिति में हो जाएगा। परिवर्तन जिस भी दिन होगा। विभिन्न राशियों पर अपना शुभ—अशुभ फल जरूर देंगे। आइए जानें क्या हैं वे राशियां।

राशियों पर ये होगा असर —
पंडित रामगोविन्द शास्त्री का कहना है कि जबलपुरी लोक विजय पंचांग के अनुसार मंगल के इस राशि परिवर्तन से सिंह, मेष और धनु राशि के जातकों के लिए विशेष सावधान रहने की जरूरत है। मंगल के इस गोचर में ये सिंह के चौथे, मेष को आठवें और धनु को बारहवें भाव में रहेगा। जिसके चलते इन राशि वालों को विशेष सावधान रहने की जरूरत है। गोचर काल में इन्हें यात्रा में सावधानी रखनी होगी। इसके अलावा क्रोध पर नियंत्रण रखना इनके लिए लाभकारी होगा। अन्यथा बनते काम बिगड़ सकते हैं। इसके अलावा बाकी राशि के जातकों को मंगल का यह राशि परिवर्तन सामान्य फल देगा।

इन चीजों को करेगा प्रभावित —
मंगल ग्रह को मुख्य रूप से रक्त कारक माना जाता है। यानि लाल रंग प्रधान माना जाता है। मंगल के गोचर से लोहा, पत्थर, लकड़ी आदि की कीमतों में उछाल आ सकता है। इस दौर राजकीय कार्यों, भूमि संबंधी कार्यों में बड़ा बदलावा देखने को मिलेगा। खेत संबंधी कार्यों में भी गति आएगी। हां इस दौरान लोगों को यात्रा संबंधी कार्यों में सावधानी रखनी होगी।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password