Lingraj Temple open : भक्तों के लिए खुला लिंगराज मंदिर, इन शर्तों के साथ कर सकेंगे दर्शन

Lingraj Temple

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के मद्देनजर लिंगराज मंदिर Lingraj Temple open को अस्थाई रुप से बंद किया था। उड़ीसा की राजधानी भुवनेश्वर में स्थित इस लिंगराज मंदिर को भक्तों के लिए 1 सितंबर से खोल दिया गया है। कोरोना प्रोटोकॉल के तहत व कुछ नियमों के साथ ही भक्तों को प्रवेश की इजाजत दी गई है। जिसमें श्रृद्धालुओं को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की सेकेंड डोज का सर्टिफिकेट दिखाना अनिवार्य किया गया है।

एक बार में 100 भक्त कर सकेंगे दर्शन
कोरोना संकट के बीच एक मंदिर ट्रस्ट की ओर से एक बार में केवल 100 भक्तों को ही मंदिर में एंट्री दी जाएगी। बिना मास्क लगाए भी लोगों को प्रवेश की इजाजत नहीं दी जाएगी। 6 फीट की सामाजिक दूरी के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा। साथ ही भक्तों को गर्भगृह में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई है।

इन नियमों का करना होगा पालन –

1— लिंगराज दर्शन के लिए कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज का सर्टिफिकेट भक्तों को प्रवेश द्वार पर दिखाना जरूरी होगा। अगर हार्ड कॉपी नहीं है तो मोबाइल पर भी दिखाया जा सकता है।
2 — गर्भगृह में प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई है।
3 — एक बार में केवल 100 भक्त ही मंदिर परिसर के सिंह द्वार से अदा काठा (लकड़ी से बना बैरिकेड) तक जाकर पूजा कर सकेंगे।
3 — सेवायत भक्तों से किसी भी प्रकार का प्रसाद स्वीकार नहीं किया जा सकेगा। केवल दर्शन के लिए अनुमित होगी।
4 — एक-दूसरे से 6 फीट की दूरी व फेस मास्क जरूरी होगा।
5 — सेवायत कोविड निगेटिव रिपोर्ट या कोविड टीके के दूसरे डोज का सर्टिफिकेट पाने के बाद ही मंदिर में पूजा-अर्चना कर सकेंगे।
6 — मंदिर प्रशासन भक्तों के लिए प्रवेश एवं निकासी द्वार पर हाथ धोने के साथ सैनेटाइजेशन की व्यवस्था करेगा।
7 — बुजुर्ग, गर्भवती महिलाओं एवं बीमार नाबालिगों को मंदिर में प्रवेश करने की अनुमित नहीं होगी।
8 — एक स्थान पर 25 से ज्यादा लोग एकट्ठा नहीं हो पाएंगे।
9 — प्रवेश के समय सिंह द्वार पर भक्तों की थर्मल स्क्रिनिंग की जाएगी।

10 — कोरोना गाइड के सभी नियमों का सख्ती से पालन करना होगा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password