प्रेमिका के शव पर बैठ पीता था शराब, साइको किलर की कहानी जान उड़ जाएंगे होश

PIC-bansalnews

भोपाल/रायपुर: अपने माता-पिता और प्रेमिका की हत्या करने वाले सीरियल किलर उदयन दास (serial killer udayan das) को पश्चिम बंगाल में फास्ट ट्रैक कोर्ट (fast track court) ने उम्र कैद की सजा सुनाई है। उदयन आकांक्षा शर्मा मर्डर केस का मुख्य आरोपी है। जिसने अपने माता-पिता की भी हत्या की थी। आकांक्षा शर्मा बंगाल के बांकुड़ा जिले की रहने वाली थीं।

राजधानी भोपाल के खौफनाक सीरियल किलर उदयन दास को उम्र कैद की सजा हुई है। हाई प्रोफाइल लाइफ जीने वाले उदयन की करतूतों का खुलासा 17 दिसंबर 2016 को पहली बार हुआ था। जब प्रेमिका के घर वालों की शिकायत पर पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू की थी। तब तक प्रेमिका आकांक्षा शर्मा के घर वाले उदयन को नहीं जानते थे। कॉल डिटेल की पुलिस जब जांच शुरू की तो आकांक्षा का अंतिम लोकेशन भोपाल के साकेत नगर इलाके में मिला था। उसके बाद ही पुलिस ने उदयन हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की थी।

इसे भी पढ़ें- भोपाल की साढ़े तीन लाख आबादी को मिलेगा स्वच्छ पेयजल, सीएम ने किया जलशोधन संयंत्र का लोकार्पण

कौन है ये उदयन

सीरियल किलर उदयन अपनी माता-पिता का इकलौता संतान था। उसके पिता में भेल में नौकरी करते थे और वह रायपुर में रहते थे। वहीं, मां भोपाल में एक सरकारी विभाग में डाटा विश्लेषक की नौकरी करती थी। उदयन के भोपाल, रायपुर और दिल्ली में अपने मकान थे। उसने फेसबुक पर कई फर्जी आईडी क्रिएट किए थे। कभी लोगों से वह कहता था कि मैं अमेरिका में नौकरी करता हूं, तो कभी खुद को बिजनेसमैन बताता था।

शव को घर में चबूतरा बनाकर दफन किया था

आरोपी ने आकांक्षा (akanksha sharma murder case) की हत्या कर घटना को छुपाने के लिए शव को एक बक्से में बंद करके घर के अंदर ही सीमेंटेड चबूतरा बनाकर दफन कर दिया था। सीरियल किलर उदयन के खिलाफ पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा में अपहरण, मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में आकांक्षा की हत्या और रायपुर में अपने माता-पिता की हत्या और धोखाधड़ी का केस दर्ज हैं।

आरोपी ने यह भी पुलिस के सामने स्वीकार किया था कि वह प्रेमिका के शव पर ही बैठ कर शराब पीता था। उसे अपने किए पर कतई अफसोस नहीं था। बाद में पुलिस ने कब्र को खोद कर शव निकाला था। उदयन का साकेत नगर में दो मंजिला मकान है। नीचे का हिस्सा किराए पर था।

पुलिस पूछताछ में वह बहुत सख्ती के बाद टूटा था। उदयन दास ने पुलिस के सामने कबूल किया था कि प्रेमिका आकांक्षा शर्मा की हत्या उसने गला दबा कर की है। घर के बगल में स्थित बिल्डिंग मटेरियल की दुकान से उसने सामान लाया था। घर में प्रेमिका के शव को दफन कर उसने चबूतरा बना दिया।

प्रेमिका की हत्या के बाद ही उसने स्वीकार किया था कि 2010 में ही उसने माता-पिता को रायपुर स्थित आवास पर मार दिया था। दोनों को मार कर वह बगीचे में दफना दिया था। उसके बाद फर्जी तरीके से वह माता-पिता के नाम पर पेंशन भी निकालता रहा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password