खैरागढ़ : यशोदा वर्मा vs कोमल जंघेल 12 अप्रैल को होगा मतदान और 16 अप्रैल को होगी मतगणना

खैरागढ़ विधानसभा उप चुनाव के लिए 17 मार्च से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। यह 24 मार्च तक चलेगी। तय कार्यक्रम के अनुसार स्कूटनी के बाद 28 मार्च तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। उप चुनाव के लिए 12 अप्रैल को मतदान होगा और 16 अप्रैल को मतगणना होगी। आपको बता दें राजनांदगांव जिले की यह सीट खैरागढ़ सियासत के राजा और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के विधायक देवव्रत सिंह के निधन के बाद खाली हुई है।

12 अ्प्रेल को डलेंगे मत

खैरागढ़ विधानसभा सीट के लिए 12 अप्रैल को मतदान होगा तथा 16 अप्रैल को मतों की गिनती की जाएगी। राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि निर्वाचन आयोग ने खैरागढ़ विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर दी है।

कांग्रेस की उम्मीदवार हैं यशोदा वर्मा
कांग्रेस की उम्मीदवार यशोदा वर्मा ने शक्ति प्रदर्शन के साथ बुधवार को अपना नामांकन दाखिल किया। नामांकन के लिए राजनांदगांव के बाबा फतेह सिंह हॉल से जुलूस निकला गया। इसमें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविंद्र चौबे, आबकारी मंत्री कवासी लखमा, प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत सहित कई मंत्री, पदाधिकारी और नेता शामिल हुए।

मिथक तोड़ने वाले कोमल जंघेल पर बीजेपी का भरोसा
बीजेपी ने BJP ने कोमल जंघेल को उम्मीदवार बनाया है या यूं कहें कि 5वीं बार भरोसा जताया है। कोमल जंघेल वहीं नेता हैं, जिन्होंने खैरागढ़ में 47 साल बाद राजपरिवार के मिथक को तोड़ा था। साल 2007 में उन्होंने पहली बार राजा देवव्रत सिंह की पत्नी पद्मा सिंह को शिकस्त देकर खैरागढ़ में कमल खिलाया।

कोमल पहले भी दो बार खैरागढ़ का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। 2018 का आम विधानसभा चुनाव वे महज 870 वोटों के अंतर से हारे थे। साल 2007 में हुए उपचुनाव में उन्होंने देवव्रत सिंह की पत्नी पद्मा सिंह को मात दी थी। इसके बाद साल 2008 में हुए आम चुनाव में उन्होंने मोतीलाल जंघेल को हराकर कमल को जिताया। हालांकि 2013 के चुनाव में कांग्रेस के गिरवर जंघेल ने उन्हें 2190 वोट से शिकस्त दी।

291 मतदान केंद्रों पर डाले जाएंगे वोट

छत्तीसगढ़ की अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी शिखा राजपूत तिवारी ने बताया, खैरागढ़ उप चुनाव के लिए 291 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इनमें से 54 मतदान केंद्र अति संवेदनशील हैं। जिले में मतदान की पूरी तैयारी कर ली गई है। कोरोना महामारी को ध्यान में रखकर भी सुविधा जुटाई गई है।

आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू

निर्वाचन आयोग ने बताया, चुनाव का कार्यक्रम जारी होते ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। यह आचार संहिता राजनांदगांव जिले में खैरागढ़ क्षेत्र में लागू होगी। चुनाव पूरा होने तक सरकार खैरागढ़ को लेकर कोई नई घोषणा नहीं कर पाएगी।

केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल का पुतला जलाया गया

केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल के धान को लेकर दिए गए बयान पर पूरी कांग्रेस उबली हुई है। पीसीसी चीफ मोहन मरकाम के निर्देश पर रायगढ़ के लैंलूंगा में केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल का पुतला जलाया गया है।

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password