सख्त लॉकडाउन से नाखुश कैलाश विजयवर्गीय, ट्वीट कर जताई नाराजगी

इंदौर: गुरुवार को कोरोना समीक्षा के बाद सीएम शिवराज के भोपाल लौटते ही इंदौर में सख्त लॉकडाउन के आदेश प्रशासन ने जारी कर दिए। लॉकडाउन लगने के बाद अब प्रशासन और पॉलिटिक्स शुरू हो चुकी है।

दरअसल, इंदौर में प्रशासन ने 28 मई तक सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं। किराना दुकान और सब्जी मंडी भी बंद करने के निर्देश हैं। ताकि कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में मदद मिलेइस निर्णय पर भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने असहमति जताते हुए कहा कि आखिर क्या जरूरत है एक अलोकतांत्रिक और तानाशाही भरे निर्णय की। पुनर्विचार की मांग की।

कैलाश विजयवर्गीय ने ट्विट में लिखा… कि… ”आखिर क्या ज़रूरत है एक अलोकतांत्रिक और तानाशाही भरे निर्णय को इंदौर जैसे अनुशासित शहर पर थोपने की.. जिस निर्णय की सर्वत्र निंदा हो रही हो उस पर पुनर्विचार होना ही चाहिये प्रशासन और जनप्रतिनिधियों को मिलकर विचार करना चाहिये”

कलेक्टर ने शुक्रवार को कही थी 28 मई तक सख्त लॉकडाउन की बात

कलेक्टर मनीष सिंह ने 21 मई से लेकर 28 मई तक सभी किराना और ग्रॉसरी की दुकाने बंद रहेंगी। चोइथराम मंडी से फल और सब्जी का विक्रय नहीं होगा। जिला कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि इंदौर में कोरोना संक्रमण काबू में नहीं आ रहा है और 30 तारीख तक इसे काबू में करने के लिए यह निर्णय लेना पड़ रहा है। हालांकि इस दौरान ऑनलाइन राशन सप्लाई करने वाली चेन चालू रहेगी।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password