कांग्रेस को झटका, विधायक ने दिया इस्तीफा, बीजेपी में शामिल

गुजरात की राजनीति से एक बड़ी खबर सामने आई है गुजरात में आदिवासी समाज का चेहरा और खेड़ब्रह्मा सीट से कांग्रेस विधायक अश्विन कोटवाल ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने मंगलवार सुबह गुजरात विधानसभा अध्यक्ष डॉ. नीमाबेन आचार्य को विधायक पद से अपना इस्तीफा सौंपाकर बीजेपी की सदस्यता ले ली है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सी आर पाटिल ने उन्हें केसरिया खेस और टॉपी पहनाकर भाजपा में विधिवतरूप से शामिल किया।

बात दें कि अश्विन कोटवाल 2007 से लगातार खेडब्रह्मा सीट से कांग्रेस की टिकट पर जीतते आ रहे हैं। वह लगातार तीन बार के विधायक हैं। खेडब्रह्मा सीट कांग्रेस का गढ़ मानी जाती है। वर्ष 1990 को छोड़ दें तो इस सीट पर कभी भी भाजपा की जीत नहीं हुई। 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा ने कोटवाल को बीजेपी में शामिल कर लिया। कोटवाल के इस्तीफा देने के चलते अब 182 सदस्यीय गुजरात विधानसभा में कांग्रेस के विधायकों की संख्या घटकर 63 रह गई है। 2017 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने 77 सीटें जीती थीं। जबकि बीजेपी ने 99 सीट। आज बीजेपी के 111 विधायक हैं।

कोटवाल ने बोला कांग्रेस पर हमला

भाजपा में शामिल होने के बाद अश्विन कोटवाल ने कांग्रेस पर हमला बोला है। कोटवाल ने कहा कि वे जिस पार्टी में काम कर रहे थे। उसकी काम करने की पद्धति से काफी नाराज थे। कांग्रेस एक एनजीओ बन कर रह गई है। कोटवाल ने खुलासा किया कि वे आज नहीं बल्कि 2007 में ही भाजपा से जुडऩे वाले थे। तत्कालीन सीएम व मौजूदा पीएम नरेन्द्र मोदी ने उन्हें भाजपा में शामिल होने का न्योता दिया था। उन्होंने कहा था कि भाजपा को अच्छे और समर्पित आदिवासी नेता की जरूरत है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password