श्रद्धालुओं के लिए खुशखबरी, इन नियमों का सख्ती से पालन करते हुए कर सकेंगे महाकाल दर्शन

उज्जैन: श्रद्धालुओं के लिए बड़ी खुशखबरी है। करीब 190 दिनों के बाद मंगलवार को महाकाल  (Mahakal Temple) समेत सभी मंदिरों में श्रद्धालुओं को प्रवेश की अनुमति दे दी गई है। लेकिन इस दौरान मंदिर में टीका लगाने या कलावा बांधने पर प्रतिबंध जारी रहेगा। कुछ नियमों का पालन करते हुए श्रद्धालु धर्मिक स्थलों पर पूजा पाठ कर सकेगें।

दरअसल कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सरकार के आदेशानुसार सभी धार्मिक स्थलों को बंद कर दिया गया था। लेकिन धीरे-धीरे सारी चीजों में छूट मिलने के बाद श्रद्धालु पिछले 21 सितंबर से ही सांस्कृतिक और धार्मिक कार्यक्रम के लिए अनुमति की मांग कर रहे थे।

सख्ती से करना होगा नियमों का पालन

मंदिर में पहुंच रहे सभी श्रद्धालुओं और दर्शानार्थियों को कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। मंदिर या सांस्कृतिक कार्यक्रम में शामिल होने वाले दर्शनार्थियों को फेस मास्क और सेनेटाइजर का उपयोग करना अनिवार्य किया गया है। इसी के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखना होगा।

इन गाइड लाइन्स का देना होगा ध्यान

श्रद्धालुओं और पुजारियों को कोरोना प्रोटोकॉल का विशेष ध्यान देना होगा, श्रद्धालुओं के बीच करीब दो गज की दूरी जरुरी होगी, सोशल डिस्टेंसिंग के तहत गर्भगृह में प्रवेश मिलेगा,
मंदिर परिसर में प्रवेश करते समय मास्क लगाना अनिवार्य होगा, मंदिर के प्रवेश द्वार पर सेनेटाइजर और हाथ धोने की व्यवस्था होगी।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password