गरियाबंद: दुर्लभ प्रजाति की बड़ी गिलहरी का शिकार करने वाले 7 आरोपी चढ़े हत्थे

गरियाबंद: दुर्लभ प्रजाति की कराटी बड़ी गिलहरी का शिकार करने वाले 7 आरोपी चढ़े हत्थे

CG-News-big-squirrel
Share This

CG News:गरियाबंद: उदंती -सीतानदी टायगर रिजर्व वन परिक्षेत्र सीतानदी के अंतर्गत आने वाले ग्राम बिरनासिल्ली के बोराई मार्ग के पास 7 युवकों को अति दुर्लभ प्रजाति की बड़ी गिलहरी ( कराटी ) का शिकार करने के आरोप में पकड़ा इस दौरान इनके पास से गुलेल, गुल्ला, पानी बॉटल, टॉर्च, टीन (गंजी) ढक्कन सहित, माचिस एवं कच्चा मांस पाया गया। सभी आरोपियों के खिलाफ वन्यजीव (संरक्षण) अधिनियम की धारा के तहत् वन अपराध पंजीबद्ध कर कार्यवाही हेतु न्यायालय में प्रस्तुत किया गया है।

उदंती-सीतानदी टायगर रिजर्व के बारें में 

सीतानदी-उदंती टाइगर रिज़र्व वर्ष 2008-09 में अस्तित्व में आया। जिसमे दो अलग-अलग रिज़र्व (उदंती और सीतानदी वन्यजीव अभयारण्य) को एक साथ मिलाया गया। उदंती सीतानदी टाइगर रिज़र्व गरियाबंद का नाम उदंती अभ्यारण एवं सीतानदी अभ्यारण में प्रवाहित होने वाली नदी उदंती एवं सीतानदी के नाम पर रखा गया है।

छत्तीसगढ़ में अन्य टाइगर रिज़र्व:

  • अचानकमार टाइगर रिज़र्व
  • इंद्रावती टाइगर रिज़र्व

दुर्लभ प्रजाति की बड़ी गिलहरी के बारें में

यह विश्व की सबसे बड़ी गिलहरी प्रजातियों में से एक है, जिसके शरीर का ऊपरी भाग गहरे रंग का, नीचे का भाग हल्के रंग का और पूँछ लंबी एवं घनी होती है। रात्रिचर उड़ने वाली गिलहरी के विपरीत मलय गिलहरी दिन में सक्रिय (Diurnal) रहती है, लेकिन यह वृक्षवासी (Arboreal) और उड़ने वाली गिलहरी की तरह ही शाकाहारी होती है।

ये भी पढ़ें: 

International Yoga Day 2023: अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में करेंगे योगाभ्यास

Bihar Heat Stroke: भीषण लू की चपेट में प्रदेश, हीट वेव ने 24 घंटे में ली 11 लोगों की जान

Koreya News: सट्टा पट्टी के अवैध कारोबार सख्त हुई कोरिया पुलिस, की यह कार्रवाई

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password