सेना की कैंटीनों में अब नहीं मिलेंगे विदेशी सामान, पाबंदी के आदेश

सेना की कैंटीनों में अब नहीं मिलेंगे विदेशी सामान, उत्पादों पर लगेगी रोक

नई दिल्ली: कोरोना (Corona) काल के बीच आत्मनिर्भर भारत (Atmanirbhar Bharat) योजना के तहत देश में बने उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत अब आर्मी कैंटीनों (Army Canteen) में चीन और विदेशी उत्पादों को बैन करने की योजना तैयार की जा रही है। भारत सरकार के इस फैसले के लागू होने के बाद आर्मी कैंटीनों में डायजियो और पेरनोड रिकार्ड जैसी विदेशी शराब (Foreign Liquor) नहीं मिलेंगे।

मिली जानकारी के मुताबिक, दूसरे देशों से तैयार होकर आने वाले उत्पादों को भारत में बैन करने की योजना तैयार की जा रही है। जिसके तहत अब विदेशों से पैक होकर आने वाले शराब पर भी पाबंदी लग जाएगी।

बाहरी आयात पर पाबंदी के आदेश

दरअसल आर्मी कैंटीन में शराब, इलेक्ट्रॉनिक्स और अन्य सामान वर्तमान सैनिक, पूर्व सैनिक और उनके परिजनों को कम दाम मिलता है। 2 बिलियन डॉलर से अधिक की वार्षिक बिक्री के साथ ये भारत में सबसे बड़ी रिटेल चेन है। वहीं आदेश में बताया गया है कि इस मुद्दे पर मई और जुलाई में सेना, वायु सेना और नौसेना के साथ चर्चा की गई थी। इसका मुख्य उद्देश्य आत्मनिर्भर भारत के तहत घरेलू उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए पीएम मोदी के अभियान का समर्थन करना था। हालांकि, रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने किसी भी तरह की प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया है।

आपको बता दें, कैंटीन में करीब 5 हजार से अधिक उत्पाद बेचे जाते हैं। इनमें से 400 का विदेशों से आयात होता है। इसमें ज्यादातर सामान जैसे कि, राइस कूकर, टॉलेट ब्रश, डायपर पैंट्स, इलेक्ट्रिक बर्तन, सैंडविच टोस्टर, वैक्यूम क्लीनर्स, चश्मे, लेडीज हैंडबैग, लैपटॉप और डेस्कटॉप कंप्यूटर्स चाइनीज कंपनियों के होते हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password