Greta Thunberg केस में पहली गिरफ्तारी, Bengaluru से एक लड़की को गिरफ्तार किया गया

नई दिल्‍ली। किसान आंदोलन (Kisan Andolan) को लेकर भारत (Greta Thunberg) को कथित रूप से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर घेरने के लिए बनाई गई रणनीति का खुलासा होने के बाद से बवाल मचा हुआ है. दरअसल क्लाइमेट चेंज एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने एक टूलकिट (दस्तावेज) को ट्वीट किया था, जिसमें कथित रूप से किसान आंदोलन को लेकर मोदी सरकार को घेरने और भारत को बदनाम करने की साजिश रची गई थी. इसी मामले में अब दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की साइबर यूनिट ने बेंगलुरु से 21 साल की क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि को गिरफ्तार किया है.

पुलिस के मुताबिक, दिशा रवि को आज दिल्ली की कोर्ट में पेश किया जाएगा. दिशा पर आरोप है कि उन्होंने 26 जनवरी को हुई ट्रैक्टर रैली को लेकर साइबर स्ट्राइक के लिए बनाई गई टूलकिट को एडिट किया था, उसमें कुछ चीज़ें जोड़ी और उसके आगे सर्कुलेट किया था. पुलिस ने बताया कि इस मामले में कुछ और नाम आए रडार पर हैं और जल्द ही कई अन्य लोगों की गिरफ्तारी होगी.

टूल किट मामले में पहली गिरफ्तारी 

फ्राइडे फ़ॉर फ्यूचर कैंपेन की फाउंडर्स में दिशा रवि भी एक सदस्‍य हैं. दिल्ली पुलिस ने 4 फरवरी को ग्रेटा द्वारा शेयर इस टूलकिट को लेकर केस दर्ज किया था. टूल किट मामले में हुई यह पहली गिरफ्तारी है. दिशा (Greta Thunberg) ने माउंट कैर्मेल कॉलेज से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में स्नातक की डिग्री हासिल की है. सूत्रों के मुताबिक दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल ने जब उन्‍हें गिरफ्तार किया, उस वक्‍त वह घर से ही काम कर रही थीं. दिशा रवि के पिता मैसूरु में एक एथलेटिक्स कोच हैं, जबकि मां एक गृहिणी हैं. बता दें कि दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम सेल ने 4 फरवरी को भारतीय दंड संहिता के सेक्शन 124A, 120A और 153 A के तहत बदनाम करने, आपराधिक साजिश रचने और नफरत को बढ़ावा देने के आरोपों में एफआईआर दर्ज की थी.

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password