आपकी इस एक गलती से बंद हो सकता है EPF अकाउंट, इसलिये हमेशा ध्यान रखें ये बात

नई दिल्ली: नौकरीपेशा लोगों के लिए ईपीएफ अकाउंट का पैसा बहुत मायने रखता है क्योंकि इसमें उनकी जिंदगी भर की कमाई का हिस्सा होता है। जब तक आप जॉब करते हैं तब तक आज EPF में अपना योगदान करते हैं और जब आप रिटायर होते हैं तो एक अच्छी खासी रकम आपके पास होती है। लेकिन कई बार लोग कुछ ऐसी गलतियां कर बैठते हैं जिससे कारण उनका पीएफ अकाउंट बंद हो जाता है। तो आगर आप भी इन गलतियों का शिकार हो रहे हैं तो आज ही सुधार लें…

आइए जानते हैं कब बंद हो जाता है EPF अकाउंट?

1. आप अगर पहले किसी कंपनी में काम करते थे उस कंपनी से आपने अपना पीएफ अकाउंट नई कंपनी में ट्रांसफर नहीं किया है और पुरानी कंपनी बंद हो गई, इस स्थिति में अगर आपके पीएफ अकाउंट से 36 महीने तक कोई ट्रांजेक्शन नहीं हुआ या फिर उसमें पैसा ट्रांसफर नहीं किया गया तो EPFO आपके खाते को बंद कर देगा और इसे ‘Inoperative’ कैटेगरी में डाल देगा।

आइए जानते हैं ‘inoperative’ होने के बाद क्या करें

अगर आपका खाता ‘inoperative’ हो गया है और आप ट्रांजेक्शन नहीं कर पा रहे हैं तो आपका अकाउंट दोबारा एक्टिव कराने के लिए आपको ईपीएफओ में जाकर एप्लीकेशन देनी होगी। हालांकि आपका अकाउंट इनओपरेटिव होने के बाद भी आपके अकाउंट में पड़े पैसों पर ब्याज मिलता रहेगा यानी की आपके अकाउंट में रखा पैसा नहीं डूबेगा।

3. नए नियमों के मुताबिक EPF अकाउंट ‘Inoperative’ हो जाता है अगर कर्मचारी ने EPF बैलेंस को निकालने के लिए एप्लीकेशन नहीं दी है, तब जब
A- रिटायरमेंट के 36 महीने बाद भी जब इसके बाद सदस्य 55 साल का हो गया
B- जब सदस्य परमानेंट रूप से विदेश में जाकर बस गया
C- अगर सदस्य की मृत्यु हो गई है
D- अगर सदस्य ने सारा रिटायरमेंट फंड निकाल लिया है

4. अगर किसी PF अकाउंट को 7 साल तक कोई क्लेम नहीं करता है तो इस फंड को Senior Citizens’ Welfare Fund में डाल दिया जाता है।

EPFO को लेकर क्या है निर्देश

EPFO ने अपने एक सर्कुलर में कहा है कि निष्क्रिय खातों से जुड़े क्लेम को निपटाने के लिए सावधानी रखना जरूरी है। इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए कि धोखाधड़ी से संबंधित जोखिम कम हो और सही दावेदारों को क्लेम का भुगतान हो।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password