डीआरडीओ, नौसेना ने हवा से गिराए जाने वाले कंटेनर सहायक-एनजी का पहला सफल परीक्षण किया

नयी दिल्ली, 30 दिसंबर (भाषा) रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) तथा नौसेना ने गोवा के अपतटीय क्षेत्र में हवा से गिराए जाने वाले कंटेनर सहायक-एनजी का पहला सफल परीक्षण किया जिसे आईएल-38 एसडी विमान से गिराया गया।

रक्षा मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में कहा कि सहायक-एनजी, भारत का देश में निर्मित और विकसित, हवा से गिराया जाने वाला पहला कंटेनर है।

इसमें कहा गया कि जीपीएस से लैस यह कंटेनर 50 किलोग्राम तक वजन ले जा सकता है और इसे किसी भारी विमान से गिराया जा सकता है।

इसके डिजाइन और विकास में डीआरडीओ की दो प्रयोगशालाएं तथा निजी कंपनी अवंटेल शामिल रहीं।

मंत्रालय ने कहा, ‘‘भारतीय नौसेना ने अपनी अभियानगत साजो-सामान क्षमताओं को बढ़ाने तथा तट से दो हजार किलोमीटर दूर पोतों को महत्वपूर्ण अभियांत्रिकी भंडार उपलब्ध कराने के लिए परीक्षण किया।’’

इसने कहा कि इस कंटेनर के आने से उपकरण और अन्य वस्तुओं का भंडार लेने के लिए पोतों के तट तक आने की जरूरत कम होगी।

भाषा

नेत्रपाल मनीषा

मनीषा

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password