कोरोना टीकाकरण: पहला डोज ले चुके लाभार्थियों को दूसरा डोज जरूरी, टीकाकरण में तेजी लाने के निर्देश

Image source: cg dpr

रायपुर: मुख्य सचिव अमिताभ जैन की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय महानदी भवन में कोविड-19 टीकाकरण के लिए गठित राज्य स्तरीय समिति की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में कोविड-19 टीकाकरण के लिए चिन्हित लाभार्थी समूहों तक पहुंच बनाने और उनका टीकाकरण किए जाने के संबंध में चर्चा हुई।

मुख्य सचिव ने कहा है कि टीकाकरण के पहला डोज ले चुके लोगों को दूसरा डोज अनिवार्य रूप से लेना है तभी टीकाकारण का फायदा हो सकेगा। टीकाकारण के बाद भी सुरक्षा उपायों का पालन करना जरूरी है। इसके लिए लक्षित समूह स्वास्थ्य कार्यकर्ता, फ्रंट लाईन वर्कर्स, 60 वर्ष से अधिक आयु के लोग और 45 वर्ष से 59 वर्ष आयु के गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्तियों को कोविड-19 के टीकाकरण के लिए प्रेरित किया जाना है। इसके लिए लक्षित समूहों तक मोबाईल एसएमएस व्हाटअप मेसेज, ई-पाम्पलेट के माध्यम से टीकाकरण के संबंध में विस्तृत जानकारी भेजने के निर्देश दिए हैं।

बैठक में अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य विभाग रेणु जी पिल्ले ने बताया कि कोविड-19 टीकाकरण के प्रथम चरण में 2.6 लाख स्वास्थ्य कार्यकर्ता, 1.8 लाख फ्रंड लाईन वर्कर्स, 1.3 लाख 60 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों का टीकाकरण किया जा चुका है। इसी तरह दूसरे चरण में 1.4 लाख स्वास्थ्य कार्यकर्ता, 5 हजार 403 फ्रंड लाईन वर्कर्स, 28 हजार 842 45 से 59 वर्ष से आयु वर्ग के लोगों और 1.6 लाख 60 से अधिक आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण हो चुका है। राज्य में टीकाकरण के लिए कोहीसील्ड के 8 लाख 80 हजार 700 और को-वेक्सीन के 72 हजार 540 टीके उपलब्ध हैं। प्रत्येक जिलों को आवश्यकता के अनुसार टीके उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password