CM Shivraj hoisted the tricolor on Republic Day

गणतंत्र दिवस पर सीएम शिवराज ने फहराया तिरंगा

भोपाल। गणतंत्र दिवस के मौके पर देश में जगह-जगह आयोजन किए गए. भोपाल में मध्यप्रदेश का मुख्य आयोजन किया गया. ये आयोजन भोपाल के लाल परेड मैदान में किया गया. इस आयोजन में मध्यप्रदेश विधानसभा के सामयिक अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने परेड की सलामी ली. वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रीवा में झण्डा फहराया. रीवा में गणतंत्र दिवस के मौके पर एसएएफ ग्राउंड में आयोजन किया गया. इस बार राजधानी में गणतंत्र दिवस परेड में पुलिस और विशेष सशत्र बल की 13 कंपनियों ने मार्च पास्ट किया. मार्च पास्ट में अश्वारोही दल और श्वान दल भी शामिल रहा. इस दौरान 15 विभागों ने आकर्षक झांकियों की प्रस्तुत की. झांकियों में आकर्षण का केंद्र मेट्रो रेल की झांकी रहीं, जिसने मध्य प्रदेश के विकास को दर्शाया.

रायसेन के शासकीय कन्या उमावि मैदान पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी में 72वें गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय ध्वज फहराया व परेड की सलामी ली. मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया. इस मौके पर विभिन्न विभागों की झाकियां निकाली गईं. होशंगाबाद जिला मुख्यालय पर गणतंत्र दिवस समारोह पुलिस लाइन मैदान में आयोजित किया गया. भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस लाइन के दोनों गेटों पर पुलिस बल तैनात किया गया है. मंच पर होशंगाबाद विधायक डॉ सीतासरन शर्मा, सोहागपुर विधायक विजयपाल सिंह मौजूद रहें. समारोह में मुख्य अतिथि पर्यटन व संस्कृति मंत्री ऊषा ठाकुर ने झंडावंदन कर परेड निरीक्षण किया. मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया. कोविड-19 की गाइडलाइन्स और सावधानियों को ध्यान में रखते हुए कार्यक्रम का आयोजन किया गया.

वहीं राजस्व और परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने गणतंत्र दिवस पर छिंदवाड़ा पुलिस लाइन स्थित मैदान में तिरंगा फहराया. मंत्री गोविंद राजपूत ने सुबह 9 बजे ध्जारोहण किया. इसके बाद खुले वाहन में कलेक्टर सौरभ सुमन और एसपी विवेक अग्रवाल के साथ परेड का निरीक्षण किया. राजपूत ने मुख्यमंत्री के संदेश को वाचन किया जिसमें बताया कि कोरोना की बीमारी सबसे बड़ी चुनौती के तौर पर उभरी है. सरकार के कार्य भार संभालते ही संक्रमण नियंत्रण को प्राथमिकता देते हुए द्रुत गति से कम करना शुरू कर दिया. राज्य में टेस्टिंग क्षमता 300 थी और लैब कि संख्या 3 थी, अब टेस्टिंग 54 हजार और लैब की संख्या 32 हो गई है. कार्यक्रम में बड़ी संख्या में छात्र छात्राएं और अधिकारी व आमजन मौजूद थे.

 

 

 

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password