CG News: इन जिलों में इंटरनेट सेवाओं को किया गया बंद, जानें क्या है वजह

कवर्धा। छत्तीसगढ़ के कवर्धा (Kawardha) में दो गुटों के बीच हुए विवाद का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार देर शाम से ही कबीरधाम में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी है। वहीं बुधवार को भी जब स्थिति में किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं देखा गया तो बेमेतरा में भी इंटरनेट सेवाओं को पूरी तरह से बंद कर दिया गया। इसके साथ ही आसपास से जुड़े जिलों में इंटरनेट की स्पीड कम कर दी गई है। जानकारी के मुताबिक विवाद के बाद भड़काऊ फोटो, वीडियो वायरल हो रहे थे जिसे देखते हुए जिले में इंटरनेट को बंद करने का फैसला किया गया है वहीं पुलिस भी इस पूरे मामले में कार्रवाई कर रही है। अब तक कुल 59 लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है।

धारा 144 पहले से लागू

बता दें कि कवर्धा में दो पक्षों के विवाद के बाद प्रशासन ने शहर में धारा 144 लागू कर दी है। जिस वजह से शहर में अगले आदेश तक स्कूल, कॉलेज और इंटरनेट सेवाएं बंद रहेंगी। इसके साथ ही किसी भी प्रकार के विवाद को रोकने के लिए शहर के हर इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किए गए हैं। बता दें कि कवर्धा में आधी रात दो पक्षों के बीच विवाद हो गया है। जिसके बाद शहर में पथराव की स्थिति हो गई थी। जिसे देखते हुए जिले के चप्पे-चप्पे पर भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात किए गए हैं। वहीं अगले आदेश तक शहर के सभी कालेज, स्कूलों को बंद रखा जाएगा।

यह है मामला
छत्तीसगढ़ में कबीरधाम जिले के कवर्धा में एक मार्ग से धार्मिक झंडे हटाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प होने के बाद रविवार को निषेधाज्ञा लागू कर दी गई।एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने रविवार को शांति समिति की एक बैठक कर आगामी त्योहारों और शांति एवं सौहार्द्र कायम रखने के लिए लोगों से लोहरा चौक से धार्मिक झंडे हटाने को कहा। दोनों पक्ष बैठक में झंडे हटाने के लिए राजी हो गये, लेकिन दोनों समुदायों के कुछ युवक वहां पहुंचे और इस विषय ने उग्र रूप ले लिया। एक पुलिस दल मौके पर पहुंचा और उसने स्थिति को शांत किया। कबीरधाम पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग ने बताया,स्थिति नियंत्रण में है और मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है। जिलाधिकारी ने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लगा दी है। झड़प के सिलसिले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password