मध्य प्रदेश में महंगा होगा बस का किराया, मुहर लगना बाकी, प्रस्ताव तैयार

भोपाल: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है, जिसके बाद मध्य प्रदेश में पब्लिक ट्रांसपोर्ट का किराया भी बढ़ने वाला है। दरअसल, राज्य सरकार बस ऑपरेटरों की मांल पर किराया बढ़ाने की तैयारी में है। इस बात की पुष्टि प्रदेश के परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने की है। प्रस्ताव तैयार है, बस इस पर मोहर लगना बाकी है।

सीएम शिवराज करेंगे किराए का निर्णय

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी होने का असर यात्री किराये पर पड़ता है। इसके विपरित बस ऑपरेटर की मांग पर सरकार यात्री किराए में वृद्धि करेगी। हालांकि इस बात निर्णय नहीं हुआ है कि यात्री बस किराए में कितनी वृद्धि होगी, क्योंकि इसका फैसला सीएम शिवराज सिंह चौहान करेंगे। इसके लिए सरकार फैसला लेगी जिसके बाद जल्द बैठक की जाएगी।

बस ऑपरेटर्स की है मांग

बस ऑपरेटर्स एसोसिएशन की तरफ से किराया बढ़ाने को लेकर लगातार मांग की जा रही है। बस ऑपरेटर की मांग पर राज्य सरकार किराया बढ़ाने की तैयारी में जुट गई है। वहीं मध्य प्रदेश के परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा है कि बस ऑपरेटर्स एसोसिएशन की मांग को लेकर सरकार विचार कर रही है। इसको लेकर प्रस्ताव तैयार किया गया है। लेकिन बस किराये में कितनी वृद्धि हो इसका फैसला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे। इस संबंध में जल्दी कोई बैठक होगी उसके बाद सरकार इसका ऐलान होगा।

एमपी में डीजल पहुंचने वाला है 90 रुपये प्रति लीटर

प्रदेश में बस ऑपरेटर्स एसोसिएशन की तरफ से लगातार मांग हो रही है की यात्री किराए को बढ़ाया जाए। बस ऑपरेटर ने बताया कि साल 2018 में सरकार ने बस का किराया बढ़ाया था। जिसके बाद से कई दफा डीजल के दाम बढ़ चुके हैं। वहीं मध्य प्रदेश में डीजल 90 रुपये प्रति लीटर तक पहुंचने वाला है। इस स्थिति में सरकार को किराये में 50 फीसदी से ज्यादा वृद्धि करना चाहिए, वरना प्रदेश की सड़कों पर बसें चलाना मुश्किल हो जाएगा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password