BJP Foundation Day 2022 : अटल-आडवाणी से मोदी-शाह तक कितनी बदली भाजपा

BJP Foundation Day 2022 : एक समय था जब भारतीय जनता पार्टी के दो ही सांसद हुआ करते थे लेकिन आज 2 सांसदों से शुरूआत करने वाली भाजपा आज देश ही नहीं बल्कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बन गई है। बीजेपी आज अपना 42वां स्थापना दिवस मना रही है। बीजेपी की स्थापना 6 अप्रैल 1980 को हुई थी। पूर्व पीएम अटल बिहारी के नेतृत्व में जनसंघ से निकले लोगों ने मिलकर बीजेपी बनाई थी। दो सांसदों से देश की सबसे बड़ी पार्टी बनने वाली बीजेपी की कहानी बड़ी दिलचस्प है। पहले अटल और आडवाणी के नेतृत्व में भाजपा को मजबूती मिली थी और अब मोदी-शाह के नेतृत्व में बीजेपी देश में तेजी से आगे बढ़ रही है।

कैसा रहा 42 सालों का सफर

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और उनके परम मित्र लालकृष्ण आडवाणी ने मिलकर बीजेपी को खड़ा किया था। दोनों ने साल 1984 में दो सीटें जीती जिसके बाद दोनों ने मिलकर वो कमाल दिखाया कि बीजेपी को साल 1988 में 182 सीटों पर लाकर खड़ा कर दिया। लालकृष्ण आडवाणी ने अपनी आत्मकथा में लिखा है, कि दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में 5-6 अप्रैल, 1980 के दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन में 3,500 से अधिक प्रतिनिधि एकत्र हुए और 6 अप्रैल को एक नए राजनीतिक दल दल भारतीय जनता पार्टी के गठन की घोषणा की गई थी। अटल बिहारी वाजपेयी को इसका पहला अध्यक्ष चुना गया था। मुझे सिकंदर बख्त और सूरजभान के साथ महासचिव की जिम्मेदारी दी गई थी.।

राम जन्मभूमि और हिंदुत्व एजेंडे से बनी राष्ट्रीय पार्टी

साल 1984 में लोकसभा चुनाव की 2 सीटें जीतने के बाद बीजेपी हिंदुत्‍व की ओर आकर्षित हुई थी। वाजपेयी और आडवाणी ने राम जन्मभूमि का मुद्दा उठाकर बीजेपी को मुख्‍यधारा की राजनीति में ला दिया था। राम मंदिर के मुद्दे पर बीजेपी ने साल 1989 में 85 लोकसभा सीटें जीतीं, इसके बाद साल 1991 में 120 सीटे जीती और वाजपेयी के नेतृत्‍व में देश को पहली गठबंधन वाली सरकार मिली। लेकिन साल 2004 में बीजेपी के चुनाव हारने के बाद दो नेताओं की खोज हुई।

मोदी-शाह की जोड़ी ने पलट दी पूरी बाजी

2009 के लोकसभा चुनाव में जब बीजेपी बहुमत नही ला सकी तो बीजेपी ने पार्टी की जिम्मेदारी गुजरात के मुख्‍यमंत्री रहे नरेंद्र मोदी को सौंप दी। 2014 का लोकसभा चुनाव बीजेपी ने मोदी के चेहरे को आगे कर लड़ा था। उस चुनाव से लेकर आज तक बीजेपी सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन करती आ रही है। पार्टी को 282 सीटें हासिल हुई थीं और पूर्ण बहुमत के साथ देश में पहली बार बीजेपी की सरकार बनी थी। 2019 में बीजेपी ने 303 सीटें जीतीं और मोदी फिर प्रधानमंत्री बने हैं।

RSS-BJP की जोड़ी

बीजेपी और आरएसएस की जोड़ी जगजाहिर है। भारतीय जनता पार्टी में लगभग सभी बड़े नेता संघ की पाठशाला में तपकर निकले है। अटल बिहारी बाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर देश के बड़े तमाम नेता संघ से जुड़े है। बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी भी संघ के बड़े नेताओं में से एक रहे हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password