Bhopal Name Change: अब भोपाल का नाम बदलने की तैयारी में सरकार!

Bhopal Name Change : अब भोपाल का नाम बदलने की तैयारी में सरकार!

भोपाल। एक दिन पहले केंद्र सरकार Bhopal Name Change ने मध्य प्रदेश के 3 शहरों का नाम बदल दिया है। जिसके बाद अब भोपाल और औबेदुल्लागंज का नाम बदलने की भी मांग शहर में उठने लगी है। आपको बता दें इसे लेकर विधायक रामेश्वर शर्मा द्वारा औबेदुल्लागंज को राजगंज और मंत्री विश्वास सारंग द्वारा भोपाल का नाम परिवर्तित करने की मांग उठाई जा रही है।

नाम बदलने को लेकर दिया धन्यवाद —
होशंगाबाद का नाम नर्मदापुर करने को लेकर हुजूर विधानसभा विधायक रामेश्वर शर्मा ने पीएम मोदी और सीएम शिवराज को धन्यवाद दिया है। विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि होशंगाबाद का नाम नर्मदापुरम किए जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आभार व्यक्त किया है विधायक शर्मा बोले आज़ादी का 75 वाँ अमृत महोत्सव चल रहा है ग़ुलामी के सारे कलंक मिटाएँ जा रहें है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश में ग़ुलामी के प्रतीक चिन्हों नामों को बदला एवं हटाया जा रहा है यह स्वागत एवं अभिनंदनीय निर्णय है। हुमायूँ,बाबर,अकबर, औरंगज़ेब यह सभी लुटेरे थे इनके नामों निशान मिटा दिए जाएँगे। ओबेदुल्लागंज को भी रामगंज किया जाए। शहजानाबाद का भी नाम बदला जाए ग़ुलामी के सभी चिन्ह हटाएँ जाना चाहिए।

मंत्री विश्वास सारंग ने भोपाल का नाम बदलकर भोजपाल करने की मांग उठाई है। इसको लेकर पहले भी मुहिम शुरू की गई थी। सारंग का कहना है कि नाम बदलने को लेकर मैंने सरकार से अपील की थी। मैं फिर चाहूंगा कि भोपाल का नाम बदलकर भोजपाल किया जाए। इसको लेकर मैं पत्र भी लिखने वाला हूं। मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि उन शहरों और गांवों के नाम जो हमें गुलामी की याद दिलाते हैं वह मध्यप्रदेश में नहीं रहे। इसी संकल्प के साथ होशंगाबाद का नाम बदला गया। नर्मदा मैया पूरे प्रदेश में हमें हमारी जीवनदायिनी है। नर्मदा किनारे बसे होशंगाबाद को अब नर्मदापुरम कहा जाएगा। कांग्रेस के नेता कहते हैं यह हमारा भगवा एजेंडा है। यदि वह इसे भगवा एजेंडा मानते हैं तो भी हमें कोई दिक्कत नहीं।

बहुत प्रसन्नता की बात है कि बाबई को भी अब माखन नगर कहा जाएगा। यह देश भक्तों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने की हमारी मुहिम है। मैं इसके लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद व्यक्त करता हूं। टीकमगढ़ जिले का शिवपुरी अब कुंडेश्वर धाम के नाम से जाना जाएगा। बाबा कुंडेश्वर की कृपा और उनके अनुकंपा इस जिले समेत पूरे मध्यप्रदेश में है। बहुत प्रसन्नता की बात है कि सरकार ने ये निर्णय लिया है। नाम बदलने के बाद अब गुलामी की भावना जो मन में आती थी वो सब अब समाप्त हो जाएगी। कुशाभाऊ ठाकरे जी के जन्म के 100 वर्ष पूर्ण होने पर इस साल उनका जन्म शताब्दी वर्ष मना रहे हैं। मध्य प्रदेश में बीजेपी को बढ़ाने में सबसे बड़ा योगदान कुशाभाऊ ठाकरे जी ने दिया था। उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी संगठन के विस्तार में लगाई। कुशाभाऊ ठाकरे जी ने भारतीय जनसंघ और भारतीय जनता पार्टी को मजबूत किया। उनके जन्म शताब्दी वर्ष पर संगठन का विस्तार और बूथ तक भारतीय जनता पार्टी की मजबूती।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password