Astro Tips For Oiling : कहीं रोज की जाने वाली Oiling परेशानियों का कारण तो नहीं? ज्योतिष शास्त्र से जानिए किस दिन तेल लगाना होता है शुभ

Astro Tips For Oiling : कहीं रोज की जाने वाली Oiling परेशानियों का कारण तो नहीं? ज्योतिष शास्त्र से जानिए किस दिन तेल लगाना होता है शुभ

नई दिल्ली। कई बार हमारे Astro Tips for oiling जीवन में आ रही vastu tips परेशानियां का कारण lifestyle news हमारे द्वारा की जा रही रोजमर्रा के किए जाने वाले क्रियाकलाप भी बनते हैं। ऐसे में क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा रोजाना लगाया जाने वाला तेल भी आपकी परेशानियां बढ़ा सकता है। यदि नहीं तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि किस दिन तेल लगाकर आप दरिद्रता और निर्धनता से बच सकते हैं।

किस दिन तेल लगाने से क्या होता है —
मंगलवार — इस दिन तेल लगाने से घर में बीमारी का वास होता है।
द्वादशी — इस दिन तेल का स्पर्श करने से बचना चाहिए। इससे घर में दरिद्रता और निर्धनता आती है।

नवमीं — नवमीं पर तेल लगाने से बड़े काम में नुकसान झेलना पड़ सकता है।
इतना ही नहीं ऐसा भी माना जाता है ​कि इस दिन तेल लगाना आपकी शीरीरिक क्षमता को क्षीण कर सकता है।

ग्रहों का प्रभाव बढ़ाने के लिए तेल के उपाय —

सूर्य —surya 
अगर जन्मकुंडली में सूर्य sun कमजोर स्थिति में हैं। या फिर कुंडली में सूर्य की स्थिति तुला, राहु या केतु के साथ है तो ऐसे में सरसों के तेल खाने में इस्तेमाल करें। साथ ही ऐसा माना जाता है कि तिल के तेल में इत्र मिला कर शरीर पर लगाने से भी सूर्य मजबूत होता है।

मंगल —
जन्मकुडली में कमजोर मंगल mangal  को मजबूत करना चाहते हैं या फिर कर्क राशि का मंगल है या मंगल शनि के साथ बैठकर पीड़ित हो रहा है। या मंगल सूर्य के साथ बैठकर अस्त हो रहा है, तो इस स्थिति में तिल का तेल में सिन्दूर मिला कर लगा सकते हैं।

चंद्रमा —
चंद्रमा को शांत और शीतल ग्रह माना moon जाता है। यदि आपकी कुंडली में चंद्रमा chandra कमजोर है तो उनकी मजबूती के लिए सफेद तिल के तेल को लगाया जा सकता है। इसके विपरीत अगर बुध ग्रह कमजोर है तो इस स्थिति में नारियल के तेल में ब्राह्मी मिलाकर इसका प्रयोग करने से लाभ होता है। अगर अपना मन और मस्तिष्क को मजबूत बनाना चाहते हैं तो उस कंडीशन में नारियल के तेल के साथ् ब्राहृमी को मिलाकर लगाया जा सकता है।

तेल लगाने से शुक्र और शनि ऐसे होंगे मज़बूत shani, shukra 
अगर आप शनि की कृपा पाना चाहते हैं तो इसके लिए तिल, उड़द, कालीमिर्च, मूंगफली का तेल, आचार, लौंग, तेजपत्ता तथा काले नमक का उपयोग करना चाहिए। इसके अलावा आपको बता दें कस्तूरी, लोबान तथा सौंफ की सुगंध शनि देव को पसंद है। आपको बता दें शनि का सम्बन्ध तिल के तेल से होता है। इसलिए शनि की शांति के लिए तिल के तेल का दान शुभ माना जाता है। अगर आपकी कुंडली में जीवन के सुख का कारक शुक्र ग्रह कमजोर है तो इस स्थिति में नारियल, तिल या चमेली का तेल जरूर लगाएं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password