Agni Prime Missile: अग्नि प्राइम मिसाइल का ओडिशा में हुआ सफल परीक्षण, 2000 किलोमीटर की सीमा तक है मारक क्षमता

नई दिल्ली। भारत ने मिसाइल तकनीक में सोमवार को नई सफलता का एक और आसमान छू लिया। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा विकसित मिसाइल अग्नि प्राइम (Agni Prime) का आज सुबह परीक्षण किया गया। अग्नि सीरीज की मिसाइल्स में सबसे आधुनिक अग्नि प्राइम की मारक क्षमता 1,000 से 1,500 किलोमीटर है। भारत ने आज सुबह 10:55 बजे ओडिशा के तट पर अग्नि सीरीज की एक नई मिसाइल अग्नि-प्राइम का सफल परीक्षण किया।

अग्नि प्राइम अत्याधुनिक तकनीक के प्रयोग के कारण यह कम वजन वाली मिसाइल है। इसकी मारक क्षमता पहले वाले मिसाइलों से अधिक है। भारत ने 1989 में पहली बार मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि 1 का परीक्षण किया था। सूत्रों की माने तो अग्नि 1 के जगह अब अग्नि प्राइम लेगा अग्नि सीरीज कि भारत में पांच मिसाइलों का सफलतापूर्वक विकास और परीक्षण कर चुका है।

पहली बार 1989 में अग्नि का हुआ था परीक्षण
आंकड़ों के अनुसार, ‘अग्नि प्राइम’ एक छोटी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल है जिसकी मारक क्षमता 1000 किमी से 1500 किमी होगी। यह सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल है जो लगभग 1,000 किलोग्राम का पेलोड या परमाणु शस्त्र ले जा सकती है। डबल स्टेड वाली मिसाइल ‘अग्नि-1’ की तुलना में हल्की और अधिक पतली होगी। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अग्नि प्राइम को 4,000 km रेंज वाली अग्नि 4 और 5,000 km वाली अग्नि पांच में इस्तेमाल होने वाली तकनीक को मिलाकर बनाया गया है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password