Kabul Airport Suicide Attack: काबुल एयरपोर्ट के बाहर सीरियल ब्लास्ट में 40 की मौत, 120 से ज्यादा घायल

नई दिल्ली। अफगानिस्तान में  हालात बेहद खराब होते जा रहे हैं। गुरुवार शाम 7 बजे बाद काबुल हवाई अड्डे (Kabul Airport) के एक आत्मघाती बम विस्फोट हुआ, जिसमें 40 लोगों की मौत हो गई और 120 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। बताया जा रहा है कि दो हमलावर थे। एक ने खुद को बम से उड़ा लिया दूसरे ने फायरिंग की। सीरियल ब्लास्ट में चार अमेरिकी मरीन कमांडो की भी मौत हुई है। इसकेअलावा तीन घायल हो गए हैं। सीरियल ब्लास्ट एयरपोर्ट के अब्बे गेट पर पहला ब्लास्ट हुआ और इसके बाद दूसरा धमाका एयरपोर्ट के नजदीक बने बैरन होटल के पास हुआ, जहां पर ब्रिटेन के सैनिक ठहरे हुए थे। जब पहला धमाका हुआ था इसके बाद फ्रांस ने दूसरे धमाके को लेकर अलर्ट जारी किया था और उसके कुछ ही देर बाद दूसरा धमाका हुआ। मरने वालों में कई बच्चे भी हैं। हमले में महिलाओं, अमेरिकी सुरक्षा कर्मियों और तालिबान के गार्ड समेत कई लोग घायल हुए हैं। हमले के लिए आइएसआइएस पर शक जताया है।

इलाके में अफरा-तफरी का माहौल
काबुल एयरपोर्ट और उसके आसपास के इलाकों में धमाके की वजह से अब अफरा-तफरी का माहौल है। घटना के समय एयरपोर्ट पर हजारों लोग वहां मौजूद थे। टोलो न्यूज के अनुसार यह धमाका बैरन कैंप के पास अफगानों की भीड़ के अंदर से हुआ, जो देश छोड़ने की कोशिश कर रहे थे। काबुल में अमेरिकी दूतावास ने बयान जारी करते हुए कहा है कि हवाई अड्डे पर एक बड़ा धमाका हुआ है, और गोलीबारी की खबरें हैं। अमेरिकी नागरिकों को इस समय हवाई अड्डे की यात्रा करने से बचना चाहिए और हवाईअड्डे के फाटकों से बचना चाहिए। अमेरिकी नागरिक जो एबी गेट, ईस्ट गेट या नॉर्थ गेट पर हैं, उन्हें अब तुरंत निकल जाना चाहिए। काबुल हवाई अड्डे पर आत्मघाती हमले में कम से कम 3 अमेरिकी सैनिक घायल हुए हैं। अफगानिस्तान को लेकर अमेरिका और ब्रिटेन ने हमले की जो आशंका जताई थी वही हुआ है।

अमेरिका और ब्रिटेन ने हमले की जताई थी आशंका
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन इस घटना के बाद व्हाइट हाउस में मीटिंग ले रहे हैं और काबुल के हालात पर नजर बनाए हुए हैं। ब्रिटिश प्रधानमंत्री भी सिक्योरिटी को लेकर इमरजेंसी मीटिंग कर रहे हैं। एजेंसियों से मिली खबरों के अनुसार कि घटना के वक्त एयरपोर्ट के बाहर हजारों की संख्या में अफगान नागरिक मौजूद थे। मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है। वहीं, काबुल एयरपोर्ट पर रॉकेट से हमले की आशंका जताई गई है। अमेरिकी सैनिकों ने एयर पोर्ट पर भीड़ से कहा है कि खुद को कवर कीजिए। काबुल एयरपोर्ट के सारे दरवाजे बंद कर दिए गए हैं। इस दौरान लोगों से कहा गया है कि एयरपोर्ट पर जाने से बचे और खुद को सुरक्षित रखें। वहीं दूसरी और पाकिस्तान की बॉर्डर पर भी हजारों की संख्या में अफगानी नागरिक अपनी जान बचाने के लिए भीड़ के रुप में इकट्ठा हुए है, वह पाकिस्तान में जाकर अपनी जान बचाना चाहत हैं। सुरक्षा के लिए काबुल एयरपोर्ट से सभी उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। सभी विमानों को नाटो की सेना ने अपने सुरक्षा घेरे में ले लिया है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password