Bird Flu(H5N1): इंसानों में ऐसे फैलता है बर्ड फ्लू, जानें लोगों के लिए कितना है घातक

Bird Flu News

नई दिल्ली। एक तरफ पूरी दुनिया में कोरोना महामारी ने तहलका मचाया हुआ है। वहीं दूसरी तरफ अब भारत में एक और बीमारी ने दस्तक दे दी है। इस बार कई राज्यों ने बर्ड फ्लू (Bird Flu) को लेकर अलर्ट जारी किया है। ऐसे में लोगों को ये जरूर जानना चाहिए कि बर्ड फ्लू क्या है? ये कितना खतरनाक है और इस बीमारी से इंसानों को कितना खतरा है।

इंसानों को भी है इससे खतरा

इस बीमारी का प्रचलित नाम बर्ड फ्लू है। लेकिन विज्ञान की भाषा में इसे एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस यानी कि H5N1 कहा जाता है। यह वायरस पक्षियों के साथ-साथ इंसानों को भी अपना शिकार बनाता है। यानी इस बीमारी से जितना पक्षियों को खतरा है उतना ही इंसानों को भी इससे बचना चाहिए। कोरोना वायरस की तरह ही बर्ड फ्लू भी एक संक्रामक बीमारी है। श्वसन तंत्र पर इसका गहरा असर पड़ता है। हालांकि मुख्यरूप से इस वायरस को एक पक्षी से दूसरे पक्षी में ही फैलते हुए देखा गया है लेकिन अगर किसी इंसान में यह संक्रमण पक्षी से हो जाए तो उनसे दूसरे इंसानों में भी फैल सकता है।

इन राज्यों ने जारी किया अलर्ट

अब तक देश में मध्य प्रदेश, केरल, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और पंजाब से बर्ड फ्लू के मामले सामने आ चुके हैं। यही कारण है कि इन राज्यों ने अलर्ट जारी कर दिया है। वहीं हिमाचल प्रदेश ने तो राज्य में मछली, मुर्गे और अंडो की बिक्री को बैन कर दिया है।

पक्षियों में तेजी से फैलता है बर्ड फ्लू

बर्ड फ्लू, समान्य फ्लू की तरह ही होता है। यह चिकन, मोर, टर्की, कौआ, बत्तख आदि जैसे पक्षियों में तेजी से फैलता है। वहीं कोई इंसान अगर इसके चपेट में आ जाता है तो उसमें सांस लेने में दिक्कत, सिर में तेज दर्द, नाक बहना, हमेशा कफ बने रहना, पूरे शरीर में दर्द रहना, गले में सूजन आ जाना, उल्टी आना और पेट के निचले हिस्से में दर्द आदि रहने जैसे लक्षण हो सकते हैं।

ऐसे करें बचाव

इंसानों को बर्ड फ्लू से बचने के लिए संक्रमित पक्षियों या मुर्गियों से दूर रहना चाहिए। इंसानों में यह वायरस आंख, नाक और मुंह के जरिए प्रवेश करता है। ऐसे में संक्रमण जहां पहले से फैला हो वहां जाने से बचें।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password