डिलीवरी भागीदारों के बच्चों की शिक्षा में अब Zomato कंपनी बटाएंगी हाथ, जानें क्या है प्लान…

नई दिल्ली। ऑनलाइन खाना आर्डर से जुड़ी कंपनी जोमैटो के संस्थापक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) दीपिंदर गोयल आपूर्ति भागीदारों के बच्चों की शिक्षा के लिए नौ करोड़ डॉलर की मदद करेंगे। कंपनी के कर्मचारियों को भेजे एक आंतरिक ज्ञापन में गोयल ने कहा कि जोमैटो के आईपीओ से पहले उन्हें निवेशकों और निदेशक मंडल ने कुछ ईएसओपी (कर्मचारी शेयर स्वामित्व योजना) दिए थे।

उन्होंने कहा, ‘‘पिछले महीने के औसत शेयर मूल्य पर ये ईएसओपी लगभग नौ करोड़ डॉलर (करीब 700 करोड़ रुपये) मूल्य के हैं।’’ गोयल ने कहा, ‘‘मैं इन सभी ईएसओपी को जोमैटो फ्यूचर फाउंडेशन (जेडएफएफ) में डाल रहा हूं। जेडएफएफ पांच साल से अधिक समय से जोमैटो के साथ जुड़े सभी आपूर्ति भागीदारों के दो बच्चों की शिक्षा के लिए प्रति वर्ष, प्रति बच्चा 50,000 रुपये का खर्च उठाएगा।’’ उन्होंने कहा कि कंपनी के साथ दस साल पूरे करने वाले आपूर्ति भागीदारों के लिए यह राशि प्रति बच्चा, प्रति वर्ष बढ़ाकर एक लाख रुपये हो जाएगी।

गोयल ने कहा कि महिला डिलिवरी भागीदारों के लिये काम करने की 5 या 10 साल की समयसीमा कम होगी। बालिकाओं के लिये विशेष कार्यक्रम चलाया जाएगा। इसके तहत 12वीं की पढ़ाई पूरी करने वाली छात्राओं को ‘पुरस्कार राशि’ दी जाएगी। साथ ही उसके स्नातक करने पर भी प्रोत्साहन दिया जाएगा। अगर आपूर्ति भागीदार के साथ काम के दौरान कोई अप्रिय घटना या दुर्घटना होती है, उनके बच्चों और परिवार को शिक्षा तथा आजीविका उपलब्ध करायी जाएगी। भले ही उसने कितने भी दिन काम क्यों नहीं किया हो। इस बारे में संपर्क किये जाने पर जोमैटो ने कुछ भी कहने से मना कर दिया।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password