जानना जरूरी है : जंगल का राजा शेर ही क्यों, हाथी, भालू, चीता क्यों नहीं?

जानना जरूरी है : जंगल का राजा शेर ही क्यों, हाथी, भालू, चीता क्यों नहीं?

World lion Day : हम सभी जानते है कि जंगल राजा शेर होता है। लेकिन शेर से बड़ा और लंबा जानवर जिराफ होता है। तो वही ताकत के मामले में बात करते तो शेर से ज्यादा ताकतवर हाथी होता है। और दौड़ने की बात करे तो दौडने में शेर से आगे चीता है। चालाकी में शेर से तेज लोमड़ी है, यानी शेर न तो ताकतवर है, न ही चालाक है, न ही दौड़ने में तेज है, लेकिन जंगल का राजा शेर ही क्यो होता है? यह सवाल हर किसी के दिमाग में घूमता है।

इसलिए जंगल का राजा है शेर

दरअसल, जंगल का राजा शेर इसलिए होता है। क्योंकि उसका रहन सहन, खाना, सोना, शिकार करना एक राजा की तरह होता है। शेर में कुछ गुण ऐसे भी होते है जो शेर को जंगल का राजा होने पर मजबूर कर देते है। क्योंकि शेर रोजाना करीब 20 घंटे सोता है। 24 घंटे में से 20 घंटे सोना एक राजा ही कर सकता है। वही शेर की दहाड़ अन्य जानवरों से सबसे तेज होती है। शेर जब दहाड़ मारता है तो उसकी आवाज कई मीलों तक सुनाई देती है। शेर की तुलना लंबाई, फुर्ती और ताकत के मामले में दूसरे जानवरों से कर सकते हैं, लेकिन शेर जैसी निडरता और किसी में नहीं होती है। वह किसी दूसरे जानवर से नहीं डरता। इसलिए दूसरा कोई अन्य जानवर उससे दुश्मनी लेने से कतराता है।

कायदें कानून का पक्का

सबसे बड़ी बात है कि शेर कायदे कानून का पक्का होता है। उसके बनाए नियम पुख्ता रहते है। शेर अपनी जिम्मेदारियों बखूवी निभाता है और अन्य जानवरों को नियम के साथ चलने के लिए सुनिशिचत करता है। सबसे बड़ी बात यह है कि शेर कभी जंगल में नहीं रहता। भले ही शेर जंगल का राजा हो, पर शेर झाड़ियों में, लंबी घास के मैदानों में और चट्टानी पहाड़ियों में ही विचरण करता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password