World Class Railway Station: सबसे सुरक्षित स्टेशनों में से एक होगा हबीबगंज, 169 कैमरों की रहेगी नजर

भोपाल। 15 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के पहले वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन हबीबगंज का उद्घाटन करने जा रहे हैं ये स्टेशन कई मायनों में नायाब है। हबीबगंज रेलवे स्टेशन देश के सबसे सुरक्षित स्टेशनों में से एक होने वाला है। इस स्टेशन का सिक्योरिटी सिस्टम इस तरह से डिजाइन किया गया है कि यहां सुरक्षा से जुड़े हुई एंजेसियों की स्टेशन के चप्पे-चप्पे पर नजर होगी। स्टेशन पर 169 कैमरे लगाए गए हैं। जिनको बेहद आधुनिक कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से 24 घंटे मॉनीटरिंग किया जाएगा। यही नहीं इस कंमाड कंट्रोल सेंटर से स्टेशन के तमाम एलीवेटर,एस्केलेटर और लिफ्ट पर भी नजर रहेगी और इनमें जरा सी भी खराबी आने पर कंट्रोल रूम में पता लग जाएगा। जहां से तुरंत फैस्लिटी मैनेजर के पास मैसेज पहुंचेगा और फिर तुरंत इंजीनियर और टैक्नीशियन्स की टीम उस संबंधित प्रॉबलम को सॉर्ट आउट करेगी।

सुरक्षा से लेकर कई सारे इंतजाम
हबीबगंज स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा के हिसाब से एसी वेटिंग रूम से लेकर रिटायरिंग रूम और डॉरमेट्री समेत वीआईपी लाउंज भी बनाया गया है। यहां सुरक्षा की भी चाक चौबंद व्यवस्था की गई है। स्टेशन में 159 सीसीटीवी भी लगाए गए हैं। इसके अलावा बंसल ग्रुप द्वारा निर्मित मध्य भारत की सबसे ऊंची व्यावसायिक इमारत बंसल वन, बंसल प्लाजा शॉपिंग मॉल, फाइव स्टार होटल और बंसल मल्टीस्पेशिआलिटी हॉस्पिटल हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को आधुनिक स्थल का अनुभव कराएंगे।

यह भी खास सुविधा
इसके अलावा 68 डिग्री टेम्परेचर होने पर वाटर स्प्रिकंलर ऑन हो जाएंगे। वहीं आग लगने पर एजास्ट फेन भी पूरी रफ्तार से धुआं बाहर फेंकने लगेंगे। कंपलीट फायर हाईड्रेंट सिस्टम में 30 मीटर का होज रील है और होज बॉक्स में 15-15 मीटर के होज पाइप लगाए गए हैं सबवे में अनाउसमेंट के लिए हाई क्वालिटी के स्पीकर लगाए हैं यहां इनर्जी सेविंग एलईडी लाइट लगाई गई है जो यात्रियों का रश होने पर अपने आप तेज रोशनी देने लगेगी और जैसे ही ट्रेन रवाना होगी रोशनी कम हो जाएगी। कहा जा सकता है हबीबगंज स्टेशन किसी एयरपोर्ट से कम नहीं हैं। ये स्टेशन एयरपोर्ट की तरह सुविधाओं से ही लैस है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password