इक्विटी म्यूचुअल फंड से दिसंबर में 10,147 करोड़ रुपये की निकासी, उद्योग का परिसंपत्ति आधार बढ़ा

नयी दिल्ली, आठ जनवरी (भाषा) इक्विटी म्यूचुअल फंड से दिसंबर में 10,147 करोड़ रुपये की भारी निकासी हुई, हालांकि उद्योग का परिसंपत्ति आधार 31 लाख करोड़ से अधिक हो गया, जो अभी तक का उच्चतम स्तर है।

यह लगातार छठा महीना है, जब इक्विटी म्यूचुअल फंड से शुद्ध निकासी हुई।

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड इन इंडिया (एम्फी) द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक निवेशकों ने पिछले महीने ऋण म्यूचुअल फंड में 13,863 करोड़ रुपये डाले, जबकि नवंबर में यह आंकड़ा 44,984 करोड़ रुपये था।

कुल मिलाकर म्यूचुअल फंड उद्योग ने समीक्षाधीन अवधि के दौरान 2,968 करोड़ रुपये की शुद्ध आवक देखी, जो नवंबर के 27,194 करोड़ रुपये के मुकाबले काफी कम है।

आंकड़ों के मुताबिक म्यूचुअल फंड उद्योग के तहत प्रबंधित परिसंपत्ति (एयूएम) दिसंबर अंत में बढ़कर 31.02 लाख करोड़ रुपये के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गई, जो नवंबर अंत में 30 लाख करोड़ रुपये थी।

एम्फी के सीईओ एन एस वेंकटेश ने कहा, ‘‘उद्योग की प्रबंधनाधीन संपत्ति सर्वकालिक उच्च स्तर पर है, जो खुदरा निवेश में वृद्धि और एसआईपी म्युचुअल फंड परिसंपत्ति श्रेणी में निवेशकों के विश्वास को दर्शाता है।’’

भाषा

पाण्डेय महाबीर

महाबीर

Share This

0 Comments

Leave a Comment

इक्विटी म्यूचुअल फंड से दिसंबर में 10,147 करोड़ रुपये की निकासी, उद्योग का परिसंपत्ति आधार बढ़ा

नयी दिल्ली, आठ जनवरी (भाषा) इक्विटी म्यूचुअल फंड से दिसंबर में 10,147 करोड़ रुपये की भारी निकासी हुई, हालांकि उद्योग का परिसंपत्ति आधार 31 लाख करोड़ से अधिक हो गया, जो अभी तक का उच्चतम स्तर है।

यह लगातार छठा महीना है, जब इक्विटी म्यूचुअल फंड से शुद्ध निकासी हुई।

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड इन इंडिया (एम्फी) द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक निवेशकों ने पिछले महीने ऋण म्यूचुअल फंड में 13,863 करोड़ रुपये डाले, जबकि नवंबर में यह आंकड़ा 44,984 करोड़ रुपये था।

कुल मिलाकर म्यूचुअल फंड उद्योग ने समीक्षाधीन अवधि के दौरान 2,968 करोड़ रुपये की शुद्ध आवक देखी, जो नवंबर के 27,194 करोड़ रुपये के मुकाबले काफी कम है।

आंकड़ों के मुताबिक म्यूचुअल फंड उद्योग के तहत प्रबंधित परिसंपत्ति (एयूएम) दिसंबर अंत में बढ़कर 31.02 लाख करोड़ रुपये के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गई, जो नवंबर अंत में 30 लाख करोड़ रुपये थी।

एम्फी के सीईओ एन एस वेंकटेश ने कहा, ‘‘उद्योग की प्रबंधनाधीन संपत्ति सर्वकालिक उच्च स्तर पर है, जो खुदरा निवेश में वृद्धि और एसआईपी म्युचुअल फंड परिसंपत्ति श्रेणी में निवेशकों के विश्वास को दर्शाता है।’’

भाषा

पाण्डेय महाबीर

महाबीर

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password