क्या फिर इजरायल की सत्ता में आएगें Benjamin Netanyahu? राष्ट्रपति ने सरकार गठन का दिया मौका

यरूशलम। (एपी) इजराइल के राष्ट्रपति ने मंगलवार को प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को देश की त्रिशंकु संसद में सरकार बनाने की कोशिश करने का कठिन कार्य सौंपा है और इस तरह भ्रष्टाचार के आरोपों से जूझ रहे नेतन्याहू को कार्यकाल जारी रखने का मौका मिल गया है। राष्ट्रपति रूवेन रिवलिन ने अपनी घोषणा में कहा कि किसी पार्टी नेता को 120 सीटों वाली संसद (नेसेट) में बहुमत लायक समर्थन नहीं मिला है। हालांकि राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि कई लोगों का मानना है कि नेतन्याहू अपनी कानूनी समस्याओं के कारण पद पर रहने के लायक नहीं हैं।

नेतन्याहू के नाम की 52 सांसदों ने की सिफारिश

इसके बावजूद उन्होंने कहा कि कानून में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है जो नेतन्याहू को प्रधानमंत्री बने रहने से रोकता हो और नवनिर्वाचित संसद में 13 दलों से परामर्श के बाद उन्हें लगता है कि नेतन्याहू अन्य किसी उम्मीदवार की तुलना में नयी सरकार बनाने के लिहाज से सर्वश्रेष्ठ पात्र हैं। रिवलिन ने कहा, ‘‘मैंने उन्हें यह काम सौंपने का फैसला कर लिया है।’’

नेतन्याहू ने भ्रष्टाचार के आरोपों से किया इनकार

नेतन्याहू के पास अपने पर मुकदमे के दौरान गठबंधन बनाने का प्रयास करने के लिए छह सप्ताह तक का समय है। उन्हें नेसेट में सर्वाधिक 52 सीटों का समर्थन प्राप्त है। लेकिन अभी उन्हें अब भी कुछ सीटों की जरूरत है क्योंकि बहुमत के लिए 61 सीटें जरूरी हैं। ऐसे में नेतन्याहू अपने कुछ विरोधियों को लुभाने का प्रयास कर सकते हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password