क्या अब फिटकरी, हल्दी और सेंधा नमक से होगा ब्लैक फंगस का इलाज, जानिए क्या है इस दावे की सच्चाई

black fungus

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में दावा किया जा रहा है कि कोरोना के बाद होने वाले ब्लैक फंगस (Black Fungus) यानी म्यूकोरमाइकोसिस का इलाज फिटकरी, हल्दी, सेंधा नमक और सरसों के तेल से किया जा सकता है। इस पर फैक्ट चेक करने वाली सरकारी संस्था प्रेस इनफॉरमेंशन ब्यूरो (PIB) ने वायरल वीडियो का विश्लेषण किया है। आइए जानते हैं कि दावे की सच्चाई क्या है?

वीडियो की सच्चाई क्या है?

दरअसल, देश में कोरोना की दूसरी लहर और ब्लैक फंगस के खतरे के बीच, अफवाहों का बाजार गर्म है। लोग सोशल मीडिया पर तरह-तरह के घरेलू नुस्खे बता रहे हैं। लेकिन इसकी सच्चाई क्या है लोगों को बिना जाने इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। ऐसे में PIB ने इस वीडियो का विश्लेषण किया और पाया कि इसमें क्या जा रहा दावा पूरी तरह से फर्जी है। इस नुस्खे से ब्लैक फंगस के उपचार का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है।

मरीजों में दिख रहे हैं ये लक्षण

मालूम हो कि कोरोना से ठीक हुए मरीजों में म्यूकोरमाइकोसिस बीमारी देखी जा रही है। जिसे हम ब्लैक फंगस के नाम से भी जानते हैं। बतादें कि यह बीमारी उन लोगों को ज्यादा परेशान कर रही है जो डायबिटिज के पेशेंट हैं। साथ ही जिन मरीजों को इलाज के दौरान स्टेरॉयड दिया गया है, उन लोगों में भी इसके गंभीर लक्षण दिख रहे हैं। देश के कई राज्यों में ब्लैक फंगस को भी महामारी घोषित कर दिया गया है। ब्लैक फंगस या म्यूकोरमाइकोसिस के मरीजों में चेहरे पर एक तरफ की सूजन, सिरदर्द, साइनस, बुखार, नाक से खून आना, नाक के ऊपरी हिस्से पर काले घाव जैसे लक्षण देखे जा रहे हैं।

ब्लैक फंगस का क्या है इलाज?

देश में ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने एम्फोटेरिसिन-बी को इलाज के लिए सबसे उपयुक्त माना है। हालांकि कई राज्यों से लगातार आ रहे मामलों के कारण बाजार में इस दवा की शॉर्टेज है। ऐसे में केंद्र सरकार ने कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एम्फोटेरिसिन-बी की 23,680 शीशियां वितरित की है। जिसे सरकारी अस्पताल में दिया जाएगा। मालूम हो कि अबतक देश में ब्लैक फंगस के 8,848 मामले दर्ज किए गए हैं। इसमें से सबसे ज्यादा, आंध्र प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान और तेलंगाना से मामले सामने आए हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password