डाबर कंपनी के विज्ञापन को लेकर क्यों मचा है बवाल? इन कंपनियों पर भी लग रहा है भावनाएं आहत करने का आरोप!



डाबर कंपनी के विज्ञापन को लेकर क्यों मचा है बवाल? इन कंपनियों पर भी लग रहा है भावनाएं आहत करने का आरोप!

Dabur

भोपाल। डाबर कंपनी ने करवा चौथ को लेकर एक विज्ञापन बनाया था। कंपनी ने विज्ञापन को अलग दिखाने के लिए कुछ ऐसा किया कि उसे अब अपना विज्ञापन वापस लेना पड़ा है। दरअसल, डाबर के इस विज्ञापन पर कई लोगों ने भावनाएं आहत करने का आरोप लगाया है। इस मामले में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने तो कार्रवाई की भी मांग की है। हालांकि, कंपनी ने माफी मांगते हुए इस विज्ञापन को वापस ले लिया।आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला?

कंपनी ने विज्ञापन में क्या दिखाया?

बता दें कि करवाचौथ के दिन जारी किए गए इस विज्ञापन में एक समलैंगिक जोड़े को करवा चौथ मनाते हुए दिखाया गया था। जिसके बाद कुछ लोगों ने भावनाएं आहत करने का आरोप लगाया। विज्ञापन में दो महिलाओं को चलनी से एक दूसरे को देखते हुए दिखाया गया था। जबकि मान्यता है कि इस दिन महिलाएं अपनी पति और चांद को चलनी में से देखती हैं। ऐसे में लोगों का आरोप है कि इस तरह से हिंदू धर्म की मजाक बनाई जा रही है और कंपनी पर कार्रवाई होनी चाहिए।

फैबइंडिया पर भी लगा था आरोप

मालूम हो कि ये कोई पहला मामला नहीं है जब किसी कंपनी के विज्ञापन पर धार्मिक भावना भड़काने का आरोप लगा है। इससे पहले फैबइंडिया के विज्ञापन पर भी बवाल मचा था। फैबइंडिया ने भी बवाल मचने के बाद अपने कैंपेन को वापस लेने का फैसला किया था। बतादें कि कंपनी, ने दिपावली से जुड़े एक विज्ञापन में ‘जश्न-ए-रिवाज’ शब्द का इस्तेमाल किया था। ऐसे में लोगों का आरोप था कि कंपनी जानबुझकर हिंदू त्योंहार में मुस्लिम विचारधारा को थोप रही है। इससे उनकी धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं। वहीं कंपनी ने अपने जवाब में कहा था कि ये दिपावली कैंपेन नहीं है।

आमिर खान को लेकर भी लोग नाराज

इसके अलवा CEAT टायर के विज्ञापन पर भी बवाल मचा है। इस विज्ञापन में एक्टर आमिर खान लोगों को सड़कों पर पटाखे नहीं फोड़ने की सलाह दे रहे हैं। इस विज्ञापन को लेकर भी लोगों में नाराजगी है। ऐसे ही पिछले महीने कपड़ों के ब्रांड मान्यवर के विज्ञापन पर बवाल हुआ था। इसमें कन्यादान की जगह अब कन्यामान की बात कही जा रही थी। इस विज्ञापन में आलिया भट्ट ये कहते हुए दिख रही हैं कि वह कोई चीज नहीं हैं, जिसे दान कर दिया जाए। ऐसे में वह कहती हैं कि अब कन्यादान नहीं कन्यामान होगा। इस पर कई यूजर्स ने लिखा, इससे हिंदू धर्म को टारगेट किया जा रहा है।

पिछले साल तनिष्क के विज्ञापन को लेकर हुआ था विवाद

पिछले साल भी फेस्टिव सीजन के दौरान तनिष्क कंपनी का विज्ञापन खबरों में रहा था। इस ऐड में एक हिंदू महिला जिसकी मुस्लिम परिवार में शादी हुई है, उसके बेबी शावर के फंक्शन को दिखाया गया था। हिंदू कल्चर को ध्यान में रखते हुए मुस्लिम परिवार सभी रस्मों रिवाजों को हिंदू धर्म के हिसाब से करता है। हिंदू- मुस्लिम दो धर्मों के बारे में बात करता यह ऐड कई लोगों को पसंद नहीं आया और उन्होंने इसे ‘लव जिहाद’ को बढ़ावा देने वाला करार दिया गया था।

Share This

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password